डरपोक सरकार विधानसभा घेराव से डर गई, बंगले को बैरिकेड्स से घेरे जाने पर अरुण यादव का पलटवार

अरुण यादव के बंगले के बाहर दोनों तरफ भोपाल प्रशासन ने बैरिकेडिंग कर दी है, कल यादव के नेतृत्व में ही कांग्रेस का प्रदर्शन होना है

Updated: Dec 27, 2020, 09:10 PM IST

डरपोक सरकार विधानसभा घेराव से डर गई, बंगले को बैरिकेड्स से घेरे जाने पर अरुण यादव का पलटवार
Photo Courtesy : Hind News

भोपाल। सोमवार को होने वाले विधानसभा सत्र और कांग्रेस की विधानसभा घेराव की योजना से पहले भोपाल प्रशासन ने कांग्रेस नेता अरुण यादव के बंगले को ही घेर लिया है। अरुण यादव के बंगले E- 39 के बाहर पुलिस ने बैरिकेडिंग कर दी है। पूर्व पीसीसी चीफ अरुण यादव के बंगले के बाहर जाने वाले दोनों रास्तों पर भोपाल पुलिस ने बैरिकेड्स लगा दिए हैं। अरुण यादव ने सरकार और प्रशासन के इस रवैये पर हमला बोलते हुए कहा है कि डरपोक सरकार विधानसभा के घेराव से डर गई है। 

यह भी पढ़ें : कांग्रेस विधायकों को रोकने की तैयारी, विधानसभा परिसर के पास ट्रैक्टर ट्रॉली प्रतिबंधित

लोकतंत्र को कुचलने का काम कर रही है भाजपा : अरुण यादव 

कांग्रेस नेता अरुण यादव ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो साझा किया है। जिसमें साफ नज़र आ रहा है कि उनके बंगले के बाहर किस तरह प्रशासन ने बैरिकेडिंग की है। अरुण यादव ने कहा कि डरपोक सरकार किसानों के विधानसभा घेराव से इतना डर गई है कि मेरे बंगले E-39 के दोनों तरफ बैरिकेड्स लगा दिए गए हैं। अरुण यादव ने कहा, पहले ट्रैक्टर पर रोक लगाई और अब बैरिकेड्स लगवा दिए। यह सरकार का अघोषित आपातकाल है, भाजपा लोकतंत्र को कुचलने का काम कर रही है।

 

यह भी पढ़ें : गृह मंत्री ने कांग्रेस पर आरोप तो लगाए लेकिन विधानसभा सत्र के बारे में कुछ नहीं कहा

दरअसल कल से विधानसभा का तीन दिवसीय शीतकालीन सत्र शुरू होना है।। और कल ही कांग्रेस का स्थापना दिवस भी है। लिहाज़ा कांग्रेस ने यह योजना बनाई थी कि वो किसानों के समर्थन और कृषि कानूनों के विरोध में विधानसभा का घेराव करेगी। इस प्रदर्शन में कांग्रेस के विधायकों के ट्रैक्टर पर सवार होकर विधानसभा पहुंचने की योजना थी। जिसमें प्रदेश भर के किसानों के भोपाल पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। लेकिन इससे पहले भोपाल प्रशासन ने कांग्रेस के प्रदर्शन को बेअसर करने के लिए पहले तो विधानसभा परिसर के आसपास धारा 144 लागू किया। जब इससे भी बायत नहीं बनी तो प्रशासन ने विधानसभा परिसर के पांच किलोमीटर के भीतर ट्रैक्टर ट्रॉलियों के प्रवेश पर प्रतिबन्ध लगा दिया है।

यह भी पढ़ें : एमपी विधानसभा के 16 और कर्मचारी कोरोना पॉज़िटिव, अब तक 50 कर्मचारी संक्रमित

हालांकि प्रशासन के इस निर्णय के बाद भी कांग्रेस बैकफुट पर नहीं आई तो प्रशासन ने कांग्रेस के इस आंदोलन का नेतृत्व करने जा रहे अरुण यादव के बंगले जे बाहर ही बेरिकेडिंग कर दी।