अनूपपुर में बड़ा हादसा, स्टूडेंट्स से भरी नाव सोन नदी में अनियंत्रित होकर पलटी, नाविक ने डूबने से बचाया

यह हादसा बकेली गांव के पास हुआ। राहत की बात यह रही कि सभी बच्चों को सुरक्षित बचा लिया गया। बताया जा रहा है कि हादसा उस वक़्त हुआ जब नाविक रोज की तरह सुबह 10 बजे स्कूली बच्चों को छोड़ने जा रहा था। नाव में कक्षा नवमी से 12वीं तक के छात्र-छात्राएं बैठे हुई थे।

Updated: Sep 22, 2022, 04:48 PM IST

अनूपपुर में बड़ा हादसा, स्टूडेंट्स से भरी नाव सोन नदी में अनियंत्रित होकर पलटी, नाविक ने डूबने से बचाया

अनूपपुर। मध्य प्रदेश के अनूपपुर में स्कूली स्टूडेंट्स से भरी एक नाव के पलटने की सूचना आई है। बताया जा रहा है कि हादसा उस वक़्त हुआ जब नाविक रोज की तरह सुबह 10 बजे स्कूली बच्चों को छोड़ने जा रहा था। नाव में कक्षा नवमी से 12वीं तक के तक के करीबन 20 छात्र-छात्राएं बैठे हुई थे। राहत की बात यह रही कि सभी स्टूडेंट्स को सुरक्षित बचा लिया गया। 

यह हादसा अनूपपुर जिला मुख्यालय से सात किलोमीटर दूर बकेली गांव के समीप हुआ।दरअसल, ग्राम पंचायत कैल्होरी के चचाई में शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल है। यहां बकेली, पोड़ी, कोदयली, खाडा, मानपुर समेत करीब 10 गांव के बच्चे को जाते हैं। इनमें से कई बच्चे नाव से नदी पार करते थे। बकेली गांव के छात्र भी नदी पार कर ही पढ़ने जाते हैं। 

ग्रामीणों के मुताबिक बिना नदी पार किए यदि बच्चे चचाई जाएं तो 20 किलोमीटर का सफर तय करना पड़ता है। जबकि नदी पार कर महज एक किलोमीटर में चचाई पहुंचा जा सकता है। नदी पर पुल नहीं होने के कारण एक नाविक इन बच्चों को नदी पार कराता है। गुरुवार को रोज की तरह सुबह नाविक जब स्टूडेंट्स को ले जा रहा था तो अचानक नाव पलट गई और बच्चे बहने लगे।

हालांकि, नाविक ने तत्काल नाव को संभालते हुए बच्चों को रेस्क्यू किया। गनीमत ये रही कि सभी बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। बता दें कि बकेलि और चचाई के बीच एक पुल निर्माणाधीन है। हालांकि, सालों हो गए लेकिन यह निर्माणकार्य पूरा नहीं हो सका है। ऐसे में ग्रामीण छात्र नदी पार कर स्कूल जाने को मजबूर हैं।