बीमा अस्पताल का क्लर्क 25 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

मंदसौर में लोकायुक्त पुलिस ने घूसखोर क्लर्क को रंगे हाथों पकड़ा, एरियर का भुगतान करने की एवज में ले रहा था 25 हजार रुपए, सफाई में कहा नर्स को उधार दिए थे पैसे वही ले रहा था वापस

Updated: Jul 16, 2021, 04:28 PM IST

बीमा अस्पताल का क्लर्क 25 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार
Photo Courtesy: Naidunia

मंदसौर। मध्यप्रदेश में इनदिनों घूसखोरों पर लोकायुक्त ने शिकंजा कस रखा है। शुक्रवार सुबह 11 बजे मंदसौर के बीमा अस्पताल का एक सहायक ग्रेड 3 का क्लर्क 25 हजार रुपए लेते गिरफ्तार किया गया है। यह कार्रवाई फरियादी की शिकायत पर लोकायुक्त पुलिस ने की है। दरअसल आरोपी क्लर्क सत्यनारायण सोनी के खिलाफ उनके ही अस्पताल की स्टाफ नर्स निर्मला सोनी ने शिकायत की थी।

नर्स का आरोप था कि उनका 2 लाख 6 हजार का एरियर आया है, जिसके भुगतान के लिए बाबू द्वारा रिश्वत की मांग की जा रही थी। कई बार रिक्वेस्ट करने के बाद भी सत्यनारायण सोनी एरियर के भुगतान में टालमटोल कर रहा था। वह उसके भुगतान के बदले 25 हजार की मांग करने लगा। जिसके बाद स्टाफ नर्स ने इस मामले की शिकायत उज्जैन लोकायुक्त में कर दी। जिसके बाद लोकायुक्त ने पूरा प्लान तैयार किया औऱ आरोपी क्लर्क को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया।

दरअसल चौधरी कॉलोनी स्थित बीमा अस्पताल की नर्स निर्मला सोनी का दो लाख 6 हजार का एरियर 8 जुलाई को आ गया था। जिसकी राशि जारी करने के लिए आरोपी सहायक ग्रेड 3 सत्यनारायण सोनी लगातार पैसीं की मांग कर रहा था।

रंगेहाथ पकड़े जाने पर बाबू ने सफाई में कहा कि निर्मला नर्स ने उससे रुपए उधार लिए थे, वहीं लौटा रही हैं। उनपर रिश्वत लेने का आरोप झूठा है। फिलहाल लोकायुक्त ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आगे की कार्रवाई जारी है। इससे पहले भी सत्यनारायण पर कई बार ऐसे आरोप लगते रहे हैं।

और पढ़ें: ग्वालियर नगर निगम का सेनेटरी इंस्पेक्टर 5 हजार रुपए की घूस लेते पकड़ाया, लोकायुक्त की कार्रवाई

वहीं गुरुवार को ग्वालियर नगर निगम का सेनेटरी इन्सेपक्टर अपने जूनियर की सैलरी जारी करने की एवज में 5 हजार की रकम लेते गिरफ्तार हुआ था।

और पढ़ें: ग्वालियर में EOW का छापा, PWD के SDO के यहां से मिली 20 करोड़ की बेनामी संपत्ति

प्रदेश में लोकायुक्त ताबडतोड़ कार्रवाई करने में जुटी है। लगातार घूसखोरों के खुलासे हो रहे हैं। हाल ही में ग्वालियर के PWD विभाग के SDO के यहां 20 करोड़ की प्रापर्टी का खुलासा हुआ था।

और पढ़ें: काली कमाई के कुबेर, मप्र के अफसर के यहां मिला 80 लाख कैश, 1 किलो सोने की ईंट समेत 5 करोड़ से ज्यादा का खुलासा

उमरिया के सहायक भू-सर्वेक्षण अधिकारी के भोपाल, रीवा और शहडोल के ठिकानों से लोकायुक्त ने 80 लाख कैश, एक किलो सोने की ईंट समेत 5 करोड़ से ज्यादा का खुलासा किया था।