Shivraj Singh Chouhan: सीएम को ठंडा खाना देनेवाले अधिकारी की निलंबन के बाद बहाली, उज्जैन महिला CSP की बहाली की भी उठी मांग

MP By Election 2020: सवाल उठ रहे थे कि निलंबित अधिकारी ने तो सीएम के कार्यक्रम के अनुसार खाना पैक करवाया था। सीएम कार्यक्रम में लेट हो गए तो अधिकारी दोषी कैसे

Updated: Sep-26, 2020, 02:21 PM IST

Shivraj Singh Chouhan: सीएम को ठंडा खाना देनेवाले अधिकारी की निलंबन के बाद बहाली, उज्जैन महिला CSP की बहाली की भी उठी मांग

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर यात्रा के दौरान ठंडा खाना परोसने पर निलंबित किए गए खाद्य सुरक्षा अधिकारी मनीष स्वामी को बहाल करवा दिया है। मनीष स्वामी के निलंबन पर सवाल उठ रहे थे और सरकार की किरकिरी होती देख सीएम शिवराज चौहान ने एक साधारण इंसान हैं। उन्हें सूखी रोटियां खाने में भी कोई गुरेज़ नहीं है ऐसे में केवल उनके खाने के कारण किसी अधिकारी पर कार्यवाही हो यह उन्हें उचित नहीं लगता। इस निलंबन पर सवाल उठ रहे थे कि अधिकारी ने सीएम के कार्यक्रम के अनुसार खाना पैक करवाया था। सीएम कार्यक्रम में लेट हो गए तो अधिकारी का दोष कैसे हुआ? 

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि उन्हें पता चला है कि इंदौर प्रवास के दौरान उपलब्ध कराए गए खाने में रोटियां ठंडी होने के कारण खाद्य सुरक्षा अधिकारी को कर्तव्य में लापरवाही मानते हुए निलंबित किया गया है। लेकिन मैं ऐसे विषयों में निलंबन जैसी कार्रवाई का पक्षधर नहीं हूं। इसलिए मैं मनीष स्वामी को तत्काल प्रभाव से बहाल करता हूं। जिलों में भ्रमण के दौरान उन्हें कोई तक़लीफ़ भी होती है तो वे इसे अपने दिल में नहीं लेते हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने सभी अधिकारी कर्मचारियों से  जनता के प्रति समर्पित भाव से काम करने का आह्वान किया। 

ग़ौरतलब है कि बीते दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इंदौर में 50 करोड़ के विकास कार्यों का भूमिपूजन करने पहुंचे थे। इस दौरान वे तय कार्यक्रम से दो घंटे लेट पहुंचे। उन्हें शाम 6 बजे इंदौर पहुंचना था, लेकिन वे रात 8 बजे पहुंच सके। इसके बाद खराब मौसम को देखते हुए उन्होंने हेलिकॉप्टर की बजाय कार से भोपाल जाने का फैसला किया। बताया जा रहा है कि लगातार व्यस्तता के चलते सीएम खाना नहीं खा पाए थे और उन्होंने कलेक्टर मनीष सिंह को खाना पैक कर गाड़ी में रखने के निर्देश दिए थे।

और पढ़ें: Shivraj Singh Chouhan: सीएम शिवराज चौहान को गर्मा-गर्म खाना नहीं मिला तो खाद्य अधिकारी निलंबित

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देश पर खाद्य अधिकारी मनीष स्वामी ने सीएम के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक खाना शाम 6 बजे ही बनवा लिया था। लेकिन सीएम दो घंटे लेट हो गए और वे रात नौ बजे के बाद यानि तीन घंटे बाद इंदौर से रवाना हो पाए। शाम 6 बजे बनाकर पैक किया खाना तब तक ठंडा हो चुका था और रोटियां सख्त हो गयी थीं। ठंडी औऱ सख्त रोटियां देखकर सीएम शिवराज चौहान नाराज़ हो गए।

सीएम की नाराज़गी देखकर कलेक्टर मनीष सिंह ने फौरन कार्रवाई की और खाद्य अधिकारी मनीष स्वामी को निलंबित कर दिया। कलेक्टर मनीष सिंह ने मीडिया को बताया कि प्रोटोकॉल के तहत भोजन जिस गुणवत्ता का होना चाहिए था उसमें भारी चूक की गई और भोजन पैक करते समय पूरे प्रोटोकॉल का पालन नहीं हुआ। इसलिए सेवा आचरण नियम के तहत यह कार्रवाई गई है।