सिंगरौली में कृषि कानूनों के विरुद्ध कांग्रेस का प्रदर्शन, किसान सम्मेलन के लिए छिंदवाड़ा पहुंचे कमलनाथ

किसानों के समर्थन में मध्यप्रदेश कांग्रेस प्रदर्शन और सम्मेलन आयोजित कर रही है, छिंदवाड़ा में विशाल किसान सम्मेलन को संबोधित करने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ पहुंच चुके हैं

Updated: Jan 15, 2021, 02:01 PM IST

सिंगरौली में कृषि कानूनों के विरुद्ध कांग्रेस का प्रदर्शन, किसान सम्मेलन के लिए छिंदवाड़ा पहुंचे कमलनाथ
Photo Courtesy: Twitter

भोपाल। कृषि कानूनों को लेकर सरकार और किसानों को बीच नौवें दौर की वार्ता के बीच आज कांग्रेस मध्यप्रदेश के अलग अलग हिस्सों में कृषि कानूनों का विरोध कर रही है। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल के नेतृत्व में सिंगरौली में कांग्रेस ने धरना प्रदर्शन किया। यह धरना प्रदर्शन केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में किया गया था। सिंगरौली में कृषि कानूनों के विरुद्ध धरना प्रदर्शन में भारी भीड़ पहुंची थी। 

दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने भी कृषि कानूनों के विरोध में एक मोर्चा संभाल रखा है। कमल नाथ और सांसद नकुल नाथ आज चार दिवसीय के दौरे पर छिंदवाड़ा पहुंच गए हैं। कमल नाथ और नकुल नाथ चौरई में विशाल किसान आंदोलन को संबोधित करेंगे। 

इसी बीच कांग्रेस का सोशल मीडिया हैंडल पर भी कृषि कानूनों के विरोध में काफी सक्रियता दिख रही है। मध्यप्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत और मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रदेश सचिव राकेश सिंह यादव ने आंदोलनरत किसानों के समर्थन और कृषि कानूनों के विरोध में वीडियो संदेश जारी किया गया है। 

दरअसल केंद्र सरकार और किसान नेताओं के बीच आज नौवें दौर की वार्ता चल रही है। किसान तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर डटे हुए हैं लेकिन सरकार यह साफ कर चुकी है कि वो कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग के अलावा किसानों की हर बात मानने के लिए तैयार है। किसान नेता भी नौवें दौर की बातचीत से पहले ही यह कह चुके हैं कि सरकार तीनों कानूनों को रद्द करने की बात नहीं मानने वाली। बैठक बस यह दिखाने के लिए बुलाई जाती है ताकि सरकार यह संदेश पहुंचा पाए कि वो किसानों की बात सुन रही है। किसान नेताओं का कहना है कि वो बैठक में इसलिए जाते हैं ताकि सरकार के मंसूबों को बेनकाब कर सकें।