कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, इलाज़ के आभाव से हो रही मौत पर चिंता जताई

प्रवीण पाठक ने कहा कि शिवराज सरकार में ग्वालियर के बहुत से शीर्ष पदों पर बैठे लोग शामिल है। लेक़िन संकट की घड़ी में ऐसे शक्तिशाली सदस्य का ग्वालियर के लिए न होना ग्वालियर को अनाथ बना रहा है।

Updated: Apr 18, 2021, 11:33 AM IST

कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र, इलाज़ के आभाव से हो रही मौत पर चिंता जताई
Photo courtesy: mp braking

ग्वालियर। मध्यप्रदेश में कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। ग्वालियर ज़िले में बीते 24 घंटे में 1024 नए कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई। वहीं 5 मरीजों की मौत हो गई है। ग्वालियर में लगातार कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं बीते हफ्तेभर से मौत का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। बिगड़ते हालात को देखते हुए ग्वालियर कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। पत्र में लिखा कि कांग्रेस विधायक के नाते न सही, भांजे के नाते ही उनकी बात को सुना जाए।

देर रात 2 बजे कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखते हुए कहा कि आज शाम कुछ वीडियो उनके पास पहुँचे हैं। जिसमें ग्वालियर के स्वस्थ संबंधित समस्याओं पर सवाल खड़े हो रहे हैं। पाठक ने कहा कि जिसे देखकर आपका मन भी विचलित हो सकता है।

इसके साथ ही विधायक पाठक ने कहा कि उन्होंने स्वयं ही जेएच अस्पताल के वीडियो देखा है। जिसमे मरीजों के साथ दुर्व्यवहार हो रहा है। उनकी दुर्गति ऐसी है जैसे किसी आवारा पशुओं की भी नही होती। 

कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने कहा कि शिवराज सरकार में ग्वालियर के बहुत से शीर्ष पर बैठे लोग सरकार में शामिल हैं। लेक़िन इस संकट की घड़ी में ऐसे शक्तिशाली सदस्य का ग्वालियर में न होना ग्वालियर को अनाथ बना रहा है। उन्होंने ग्वालियर के लिए चिंता ज़ाहिर करते हुए कहा कि अग़र ग्वालियर की चिंता नही की गई तो ग्वालियर की स्थिति मध्यप्रदेश के सभी शहरों से ज्यादा खतरनाक होगी।

उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र के माध्यम से कहा कि कोरोना गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा कि "कैसे आँसू हैं सूख जाते हैं, कैसा पत्थर है भीगता ही नहीं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्रीजी, कांग्रेस के विधायक के नाते नहीं तो भाँजे के नाते ही मेरी सुन लीजिए। अपने लिए नहीं अपने शहर के लिए हाथ जोड़ रहा हूँ।"