देवास में आदिवासी परिवार के 5 सदस्यों की जघन्य हत्या मामले की CBI जांच की मांग, कमलनाथ ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

देवास के नेमावर में आदिवासी परिवार के 5 लोगों की हत्या के आरोपी को राजनैतिक संरक्षण देने का आरोप, स्थानीय प्रशासन की लचर व्यवस्था पर भी कांग्रेस ने उठाए सवाल, प्रेमी ने साथियों के साथ मिलकर आदिवासी प्रेमिका और उसके परिवार के लोगों की हत्या कर दफना दिया था

Publish: Jul 01, 2021, 06:21 PM IST

देवास में आदिवासी परिवार के 5 सदस्यों की जघन्य हत्या मामले की CBI जांच की मांग, कमलनाथ ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
Photo Courtesy: Zee news

भोपाल। कांग्रेस ने नेमावर की आदिवासी युवती औऱ उसके परिवार के 4 लोगों की हत्या मामले की CBI जांच करवाने की मांग की है। इसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के नाम पत्र लिखा है। कांग्रेस ने आरोपी को राजनैतिक संरक्षण देने का आरोप भी लगाया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को लिखे पत्र में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि नेमावर में आदिवासी समाज की युवती और उसके परिवार की हत्या मामले में कांग्रेस की ओर से जांच कमेटी गई थी। जिसमें पूर्व मंत्री और सोनकच्छ विधायक सज्जन सिंह वर्मा और मध्यप्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया भी शामिल थे। कांग्रेस ने 5 लोगों की सनसनीखेज हत्या मामले में मृतकों की गुमशुदगी के 47 दिनों बाद संदिग्ध व्यक्ति से पूछताछ से स्थानीय प्रशासन की कार्यक्रणाली पर प्रश्न चिन्ह खड़े किए हैं। पत्र में इस बात का भी जिक्र है कि आरोपी द्वारा सबूत मिटाने की कोशिशें की गई हैं। वहीं युवतियों के निर्वस्त्र मिलने के बाद भी संदिग्ध को राजनैतिक हस्तक्षेप करके छुड़वाया जाने पर सवाल उठाए हैं।

कांग्रेस की मांग है कि जनजातीय परिवार के साथ घटी इस आपराधिक घटना पर स्थानीय प्रशासन की लचर कार्यप्रणाली और राजनैतिक हस्तक्षेप को मद्देनजर रखते हुए इस मामले की जांच CBI से की जाए। ताकि बिना पीड़ितों को न्याय मिल सके। कांग्रेस ने जनजातीय समाज के परिवार से साथ हुई इस घटना की निंदा करते हुए दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

और पढ़ें: पहले प्यार फिर शादी से इनकार, प्रेमी ने प्रेमिका समेत 5 लोगों की हत्या कर दफनाया

इस जघन्य हत्याकांड का मुख्य आरोपी सुरेंद्र सिंह राजपूत हिंदू केसरिया नाम के संगठन का अध्यक्ष था। जिसे बीजेपी का संरक्षण प्राप्त है, पुलिस ने उसके साथ उसके भाई वीरेंद्र राजपूत समेत 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। सुरेंद्र ने आदिवासी युवती से प्रेम प्रसंग चलाया और फिर शादी से इनकार कर दिया। जिससे प्रेमिका रूपाली दुखी थी, उसने सुरेंद्र की मंगेतर को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट डाली थी, जिससे नाराज होकर आरोपी ने प्रेमिका की हत्या का प्लान बनाया और उसके मां, भाई और भतीजी समेत 5 लोगों की हत्या कर दी। इतना ही नहीं सबूत छिपाने के लिए शवों को 10 फीट गहरे गड्ढ़े में दफना दिया औऱ उस पर यूरिया औऱ नमक डाल दिया, जिससे लाशों की पहचान नहीं हो पाए। अब इस मामले की जांच CBI से करवाने का मांग कांग्रेस ने की है।