महंगाई के खिलाफ सड़कों पर उतरे दिग्विजय सिंह, बोले, पेट्रोल-डीज़ल पर एक्साइज कम करे मोदी सरकार

पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस की महंगाई के ख़िलाफ़ कांग्रेस का एमपी बंद सफल, यूथ कांग्रेस अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने दिया नारा, 'अक्कड़-बक्कड़ बंबे बो, डीजल नब्बे पेट्रोल सौ, सौ में लगा धागा, सिलिंडर उछल के भागा'

Updated: Feb 20, 2021, 06:37 PM IST

महंगाई के खिलाफ सड़कों पर उतरे दिग्विजय सिंह, बोले, पेट्रोल-डीज़ल पर एक्साइज कम करे मोदी सरकार

भोपाल। पेट्रोल,डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमतों के विरोध में आज कांग्रेस के मध्य प्रदेश बंद का राज्यभर में असर देखने को मिला है। राजधानी भोपाल में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के नेतृत्व ने आज सुबह ही कांग्रेस और यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में सड़कों पर उतरकर सभी बाजारों को बंद करवाया। इस दौरान कांग्रेस विधायक व पूर्व मंत्री पीसी शर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, दोपहर तीन बजे के बाद सभी बाजार धीरे-धीरे खुलने लगे। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने बंद को सफल बनाने के लिए राज्य की जनता और व्यवसायियों को धन्यवाद दिया है। 

राजधानी भोपाल में बंद के दौरान कर्फ्यू जैसे हालात नजर आए। कांग्रेस के दिग्गज नेता व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में हजारों कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे। दिग्विजय सिंह ने खुद जाकर पीरगेट, मंगलवारा और जिंसी चौराहे पर व्यवसायियों का बंद के समर्थन करने का अपील किया और केंद्र द्वारा थोपे गए एक्ससाइज टैक्स के विरोध में समर्थन मांगी। राजधानी के न्यू मार्केट, दस नंबर, बिट्टन मार्केट और शाहपुरा इलाके में व्यापारियों ने खुद से ही आज महंगाई के खिलाफ बंद करने का निर्णय लिया था। इसलिए यहां सुबह से रोड खाली दिखे। 

बंद के दौरान सड़कों पर उतरे पूर्व मुख्यमंत्री ने केंद्र की मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए पेट्रोल-डीज़ल के दामों में लोगों को राहत देने की मांग की। दिग्विजय सिंह ने कहा कि, 'आज शहर में पेट्रोल 98.60 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। केंद्र को तुरंत प्रभाव से सेंट्रल एक्‍साजइज टैक्‍स कम करना चाहिए।' उधर बंद के दौरान विरोध प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा समेत कांग्रेस के 11 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। 

 

उज्जैन में दिखी मानवता की मिसाल

बंद के दौरान उज्जैन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मानवता की मिशाल पेश की। महाकाल की नगरी में छोटा होटल चलाकर परिवार का पेट पालने वाले एक व्यक्ति को बंद के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपनी जेब से की। बताया जा रहा है कि होटल संचालक को बंद के कारण कोई नुकसान न हो इसलिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उसे एक हजार रुपए दिए। 

राज्यभर से आ रही तस्वीरें कांग्रेस के इस बंद के आह्वान के व्यापक जनसमर्थन की गवाही दे रही है। प्रदेश के सभी जिलों से आई तस्वीरें बता रही हैं कि महंगाई से त्रस्त जनता से बंद का बढ़-चढ़कर समर्थन किया है। ज्यादातर शहरों के बाजारों और दुकानों में आज जनता कर्फ्यू जैसे हालात नज़र आए। इतना ही नहीं कई इलाकों में तो व्यवसायियों ने बंद खत्म होने के बाद भी महंगाई के विरोध स्वरूप अपने प्रतिष्ठान नहीं खोले। 

 

अक्कड-बक्कड़ बंबे बो, डीजल नब्बे पेट्रोल सौ

बंद के समर्थन में सड़कों पर उतरे मध्यप्रदेश यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने व्यवसायियों से केंद्र सरकार पर करारा तंज कसते हुए प्रतिष्ठानों को बंद करने की अपील की। उन्होंने कहा, 'अक्कड़, बक्कड़ बंबे बो, डीजल नब्बे पेट्रोल सौ। सौ में लगा धागा, सिलिंडर उछल के भागा।' 

विश्वास सारंग का बढ़ गया चश्मे का नंबर :  यूथ कांग्रेस

कांग्रेस के इस बंद को बीजेपी ने असफल बताया है। शिवराज सरकार में मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि बंद पूरी तरह असफल है। सारंग के इस बयान पर यूथ कांग्रेस ने करारा पलटवार किया है। यूथ कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने कहा कि, 'महंगाई के खिलाफ जनाक्रोश को देखकर बीजेपी में खलबली मची है। इसी वजह से घबराहट में आकर वे अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं। विश्वास सारंग के चश्मे का नंबर बढ़ गया है, इस वजह से उन्हें बढ़ती महंगाई, किसानों का आंदोलन नहीं दिख रहा है। उन्हें चश्मे को बदल लेना चाहिए, वरना जनता सरकार बदलने में देर नहीं करेगी।'