कृषि अधिकारी परीक्षा में व्यापम जैसे घोटाले की आशंका, दिग्विजय सिंह ने की जांच की मांग

दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लिखा पत्र, कृषि विस्तार अधिकारी की परीक्षा में घोटाले की आशंका ज़ाहिर करते हुए पूरे मामले की जाँच SIT से कराने की माँग की है

Updated: Feb 21, 2021, 11:30 AM IST

कृषि अधिकारी परीक्षा में व्यापम जैसे घोटाले की आशंका, दिग्विजय सिंह ने की जांच की मांग
Photo Courtesy: National Herald

भोपाल। मध्य प्रदेश में कृषि विस्तार अधिकारी परीक्षा में घोटाले की चर्चा जोरों पर है। राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। अपने पत्र में उन्होंने मुख्यमंत्री से पूरे मामले की जांच एसआईटी से करवा कर कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की है। दिग्विजय सिंह ने पत्र में मुख्यमंत्री से व्यापम घोटाले का उदाहरण देते हुए बड़े फर्जीवाड़े की आशंका ज़ाहिर की है। 

कांग्रेस नेता ने मुख्यमंत्री के नाम अपने पत्र में लिखा है कि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड ने वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी और ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से संबंधित परीक्षा को लेकर प्रश्न खड़े किए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि बेरोजगार युवाओं ने इसको लेकर एक और व्यापम घोटाले की आशंका व्यक्त की है। दिग्विजय सिंह ने इस पूरे मामले पर SIT गठित कर जांच कराने की मांग की है। 

 

दिग्विजय सिंह ने व्यापम कांड का उदाहरण देते हुए मुख्यमंत्री से कहा है कि मध्य प्रदेश के इस घोटाले ने देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में प्रदेश को कलंकित किया था। आज भी सीबीआई से लेकर राज्य पुलिस तक कई जांच एजेंसियां इसकी जांच कर रही हैं। दिग्विजय सिंह ने याद दिलाया कि व्यापम घोटाले में मेडिकल कॉलेज से लेकर आरक्षक की भर्ती तक धांधली हुई थी। सैकड़ों लोगों पर फर्जीवाड़े के मुकदमे दर्ज हैं। 

कांग्रेस नेता ने लिखा है कि पीड़ित छात्रों के अनुसार कृषि विश्वविद्यालयों से बीएससी एमएससी करने वाले बेरोजगार युवाओं को लंबा इंतजार करने के बाद कृषि विभाग के SDO और RAEO के पदों पर चयन हेतु परीक्षा देने का अवसर मिला था। उन्होंने कहा है कि सरकार ने व्यापम की जगह बदले नाम पीईबी के जरिए परीक्षा आयोजित कराने का सिलसिला शुरू किया तो अब व्यापम के बाद एग्जामिनेशन बोर्ड के कारनामे चर्चा का विषय बनते जा रहे हैं। 

दिग्विजय सिंह ने घोटाले से आशंकित छात्रों द्वारा मुख्यमंत्री और सीहोर के कलेक्टर को सौंपे गए ज्ञापन का ज़िक्र भी किया है। उन्होंने कहा है कि आगामी अप्रैल महीने में प्रदेश के लगभग बारह लाख बेरोजगार युवा पुलिस आरक्षक की परीक्षा में बैठने जा रहे हैं। उससे पहले ऐसे मामले सामने आने से छात्रों के विश्वास को  ठेस लगती है। इससे राज्य सरकार पर युवाओं का भरोसा भी कमज़ोर होता है। 

दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री से व्यापम घोटाले से सचेत होते हुए कृषि विभाग के SDO और RAEO के पदों के लिए PEB द्वारा आयोजित परीक्षा में गड़बड़ियों के आरोपों की SIT द्वारा जांच कराने और पेपर्स लीक होने की बात सामने आने पर संपूर्ण परीक्षा को रद्द किए जाने की मांग की है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि दोषियों के खिलाफ एफआईआर फौरन दर्ज की जानी चाहिए।