पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर की तबीयत बिगड़ी, एयर एम्बुलेंस से भोपाल लाने की तैयारी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बृजेंद्र सिंह राठौर 15 अप्रैल को कोविड पॉजिटिव हुए थे, इलाज़ के लिए उन्हें पहले ग्वालियर और फिर झांसी के अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन अब हालात बिगड़ने की स्थिति में उन्हें एयर लिफ़्ट करके भोपाल लाने की है तैयारी

Updated: Apr 24, 2021, 04:55 PM IST

पूर्व मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर की तबीयत बिगड़ी, एयर एम्बुलेंस से भोपाल लाने की तैयारी
Photo courtesy: bhaskar

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता बृजेन्द्र सिंह राठौर की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें झांसी के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहाँ उनका दो दिनों से इलाज़ चल रहा है। लेकिन हालात बिगड़ते देख परिजनों ने कांग्रेस के बड़े नेताओं से संपर्क किया और अब उन्हें एयर एंबुलेंस से भोपाल लाने की तैयारी है। उन्हें फिलहाल राहत के लिए रेमेडेसिविर इंजेक्शन लगाया गया है। उनका ऑक्सीजन लेवल काफी कम हो जाने के बाद परिजनों ने उन्हें बड़े अस्पताल में इलाज के लिे संपर्क किया।

बृजेंद्र सिंह राठौर को बीते दस-बारह दिनों से कोविड संक्रमण था, पहले उनका इलाज ग्वालियर के अस्पताल में चलता रहा। लेकिन ग्वालियर के जिस अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था वहां एक एक करके स्वास्थ्यकर्मियों को ही कोविड अपनी चपेट में लेता गया। परिजनों के मुताबिक जब हालात दो दर्जन से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों के कोविड पॉजिटिव होने तक पहुंच गयी तो उन्होंने बृजेंद्र राठौर को पृथ्वीपुर उनके पैतृक घर लाने का फैसला किया। हालांकि वहां पहुंचते ही फिर हालत बिगड़ गई।

इसके बाद बृजेंद्र सिंह को झांसी के नारायण अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनका ऑक्सीजन लेवल पचास तक पहुंच गया। परिवार ने जब हालात काबू से बाहर जाता देखा तो उन्होंने दिग्विजय सिंह और कमल नाथ तक गुहार लगाई। इसके बाद कमल नाथ ने शिवराज सरकार में बात की और अब उनके सरकारी एंबुलेंस से भोपाल ले जाने की तैयारी है। 

झांसी में कोविड से खराब हालात और सरकारी अस्पतालों में इलाज के बदतर स्थिति ने परिवार को मजबूर कर दिया कि वो बृजेंद्र राठौर को दिल्ली या भोपाल ले जाएं। फिलहाल सरकार के आश्वासन के बाद उन्हें भोपाल के चिरायु अस्पताल में इलाज के लिए एडमिट कराने की व्यवस्था की जा रही है। 

कोविड के मामले में झांसी इन दिनों बुंदेलखंड का सबसे बदतर जिला हो गया है। बीते चौबीस घंटे में यहां कोरोना संक्रमण के एक हज़ार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। इससे पहले दमोह उपचुनाव के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद  दिग्विजय सिंह समेत 109 कांग्रेस व बीजेपी के नेता कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।