खंडवा में चार साल की बच्ची से गैंगरेप, गला घोंटकर झाड़ियों में फेंका, 16 घंटे बाद तड़पती मिली मासूम

मध्य प्रदेश में लगातार बढ़ रहे हैं बच्चियों के साथ ज्यादती के मामले, गुना के बाद अब खंडवा में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना, सीएम शिवराज पर आक्रामक हुई कांग्रेस

Updated: Nov 02, 2022, 12:59 PM IST

खंडवा में चार साल की बच्ची से गैंगरेप, गला घोंटकर झाड़ियों में फेंका, 16 घंटे बाद तड़पती मिली मासूम

खंडवा। मध्य प्रदेश में मासूम बच्चियों के साथ अत्याचार की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही है। गुना के बाद अब खंडवा से इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आ रही है। यहां एक चार साल की मासूम बच्ची के साथ हैवानों ने गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद उसे झाड़ियों में फेंक दिया गया। मासूम बच्ची 16 घंटे बाद घर से करीब 2 किलोमीटर झाड़ियों में गंभीर अवस्था में मिली।

रिपोर्ट्स के मुताबिक सोमवार को 4 साल की बच्ची अपने घर से गायब हो गई थी। बच्ची दीवाली के मौके पर अपने बुआ के घर आई हुई थीं। बच्ची की बुआ का परिवार खेतों में बटाई का काम करता है और खेत में ही झोपड़ी बनाकर रहता है। वहां पास में ही एक ढाबा था। ढाबे पर काम करने वाला राजकुमार पिछले कई दिनों से बच्ची को मोबाइल दिखाता था।

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा की व्यवस्था समझने एमपी कांग्रेस के नेता पहुंचे हैदराबाद, 20 नवंबर को एमपी में प्रवेश करेगी यात्रा

शक के आधार पर पुलिस ने आरोपी युवक को पकड़ लिया। बच्ची के संबंध में पूछताछ की, तो वह कहने लगा कि उसे मारकर फेंक दिया है। पुलिस आरोपी को साथ लेकर बच्ची को ढूंढने निकली। आरोपी के बताए अनुसार झाड़ियों को हटाया, तो बच्ची अर्धनग्न हालत में पड़ी मिली। वह हिल-डुल रही थी। उसकी सांसें चलती देख तत्काल जिला अस्पताल लाया गया। यहां उसका इलाज शुरू करवाया गया। यहां से इंदौर रेफर कर दिया गया। उसकी हालत स्थिर बनी हुई है।

आरोपी राजकुमार के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के साथ–साथ धारा 376 के तहत मामला दर्ज किया गया है। खंडवा SP विवेक सिंह ने बताया कि बच्ची के गले पर नाखूनों के निशान हैं। शरीर में दूसरी जगह भी चोट है। उन्होंने कहा कि आरोपी पूछताछ में पहले वह पुलिस को गुमराह कर रहा था। उसने एक दूसरे व्यक्ति का नाम भी बताया है, हम उसकी तस्दीक करने की कोशिश भी कर रहे हैं।

पूर्व सीएम कमलनाथ ने इस घटना को लेकर राज्य सरकार पर हमला बोला है। कमलनाथ ने कहा कि, 'मध्य प्रदेश में मासूमों से दुष्कर्म की घटनाएँ रुकने का नाम नहीं ले रही है। बीनागंज के बाद अब खंडवा में एक मासूम बच्ची से दुष्कर्म की घुटना। बेख़बर शिवराज सरकार का पूरा ध्यान सिर्फ़ चुनावी इवेंट में है। पता नहीं कब बहन-बेटियों को प्रदेश में सुरक्षा देगी सरकार।'

कमलनाथ ने आगे कहा कि, 'इस घटना के दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो, पीड़ित परिवार के साथ न्याय हो, मासूम के समुचित इलाज की व्यवस्था हो।बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश के गुना में नाबालिग के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई थी। गुना के बिनागंज 15 साल की एक लड़की का अपहरण किया गया, उसके बाद सात लोगों ने मिलकर उसके साथ गैंगरेप किया। इस घटना को लेकर वहां लोगों में काफी आक्रोश है।