बीती रात ग्वालियर में सीजन की सबसे सर्द रही रात, नौगांव, उमरिया में भी खून जमा देने वाली सर्दी

मध्यप्रदेश में जारी सर्दी की सितम, ठंड की वजह से जनजीवन प्रभावित,ग्वालियर में 5.4, नौगांव 5.7और उमरिया 6.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज रहा पारा

Updated: Dec 12, 2021, 12:51 PM IST

बीती रात ग्वालियर में सीजन की सबसे सर्द रही रात, नौगांव, उमरिया में भी खून जमा देने वाली सर्दी
Photo Courtesy: skymet weather

भोपाल। मध्य प्रदेश में ठंड अपने पूरे शबाब पर है। राज्य में सबसे ज्यादा सर्दी ग्वालियर जिले में पड़ रही है। जिले में रात का तापमान लगातार गिरता जा रहा है। ग्वालियर में शनिवार-रविवार सबसे ज्यादा ठंड रही। पूरे राज्य में सबसे कम न्यूनतम तापमान ग्वालियर में 5.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। ग्वालियर में इस सीजन का सबसे कम तापमान रहा है।

इस हाड़ कंपाने वाली सर्दी ने सितम ढाना शुरू कर दिया है। वहीं दूसरे नंबर पर नौगांव और तीसरे नंबर पर उमरिया रहा। नौगांव में 5.7 डिग्री सेल्सियस और उमरिया 6.1, खजुराहो 7.4, और रीवा में 7.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। शनिवार को भोपाल का न्यूनतम तापमान 10.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि इंदौर में 12.2 दर्ज किया गया। प्रदेश के ज्यादातर जिलों में कड़ाके की ठंड पड रही है। फिलहाल लोगों को इस सर्दी से फिलहाल राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। मौसम विभाग ने आगामी 3-4 दिनों में शीतलहर चलने की आशंका जताई है।

और पढ़ें: कश्मीर में पड़ रही कड़ाके की सर्दी, माइनस जीरो से नीचे गिरा तापमान

दरअसल इनदिनों जम्मू-कश्मीर की ओर से आ रही ठंडी बर्फीली हवाओं की वजह से पारा गिरता जा रहा है। यही वजह है कि लोगों को ठिठुरन का अहसास हो रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि 15 दिसंबर से नया सिस्टम बनने के कारण बादल छा सकते हैं।

और पढ़ें: आखिर कांग्रेस एमएलए क्यों जुटा रहे राम मंदिर के लिए चंदा

इसी के बाद ही तापमान में बढ़ोतरी होगी। इसी दौरान गरज-चमक के साथ बूंदाबांदी की आंशका है। जिसके बाद रात में तापमान बढ़ेगा। लेकिन दिन का सर्दी बढ़ेगी। सुबह और शाम के वक्त लोगों ने अलाव का सहारा लेना शुरू कर दिया है।