मध्य प्रदेश की 99 नगरपालिकाओं में 6 सीटें SC, 15 सीटें ST और 28 सीटें OBC के लिए आरक्षित, 50 सीटें अनारक्षित घोषित

प्रदेश के 317 नगरीय निकायों में चुनाव होना है जिनमें 16 नगरनिगम, 99 नगर पालिका और 298 नगर परिषद शामिल है, नगर निगमों में आरक्षण प्रक्रिया पहले ही दिसंबर 2020 में पूरी कर ली गई है

Updated: May 31, 2022, 05:04 PM IST

मध्य प्रदेश की 99 नगरपालिकाओं में 6 सीटें SC, 15 सीटें ST और 28 सीटें OBC के लिए आरक्षित, 50 सीटें अनारक्षित घोषित

भोपाल। राजधानी भोपाल के रविंद्र भवन में प्रदेश की 99 नगरपालिकाओं पर आरक्षण की प्रक्रिया चल रही है। इन 99 नगरपालिकाओं में 28 सीटें अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हुई है जिनमें राघौगढ़, धार, सिरोंज, नर्मदापुरम, मंदसौर शामिल है। अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित 15 नगरपालिकाओं में नागदा(महिला), डबरा, चंदेरी, खुरई (महिला), लहार (महिला), भिंड(महिला) एवं अन्य शामिल है।

अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित 6 नगरपालिकाओं में मलाजखंड, झाबुआ, पाली, अलीराजपुर (महिला), बड़वानी(महिला), बिजुरी(महिला) एवं अन्य शामिल है। वहीं 50 अनारक्षित सीटों में प्रमुख विदिशा(महिला), राजगढ़(महिला), शिवपुरी(महिला), गुना(महिला), नीमच(महिला) शामिल है।

यह भी पढ़ें: जिला पंचायत अध्यक्ष आरक्षण प्रक्रिया में ओबीसी को मात्र 4 सीटें, एससी को 8 सीटें, एसटी को 14 सीटें आरक्षित और 26 सीटें अनारक्षित घोषित

नगरपालिका में आरक्षण प्रक्रिया की शुरुआत होते ही कांग्रेस पार्टी ने ओबीसी को 27% आरक्षण देने की बात कही, इस बात आरक्षण प्रक्रिया कुछ समय के लिए बाधित रही। प्रदेश के 317 नगरीय निकायों में चुनाव होना है जिनमें 16 नगरनिगम, 99 नगर पालिका और 298 नगर परिषद शामिल है। 16 नगर निगमों में आरक्षण प्रक्रिया पहले ही दिसंबर 2020 में पूरी कर ली गई है।