कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कार्रवाई के विरोध में उतरी कांग्रेस, दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भरी हुंकार

इंदौर में आज दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने रैली निकाली, दिग्विजय सिंह के साथ कांग्रेस के कई नेता रथ पर सवार होकर कमिश्नर ऑफिस पहुँचे, इस दौरान भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रैली में पहुँच कर इंदौर प्रशासन की कार्रवाई के विरुद्ध अपना विरोध दर्ज कराया

Updated: Sep 28, 2021, 04:50 PM IST

कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कार्रवाई के विरोध में उतरी कांग्रेस, दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भरी हुंकार

इंदौर। इंदौर प्रशासन के कांग्रेस नेताओं के प्रति पक्षपाति रवैये के खिलाफ आज कांग्रेस पार्टी मैदान में उतर गई। राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में हज़ारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ पड़ा। इस दौरान कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह सहित कांग्रेस के नेता रथ पर सवार होकर कमिश्नर कार्यालय की ओर रवाना हुए।  

इंदौर विधानसभा क्षेत्र 2 के सुखलिया क्षेत्र से यह रैली शुरु हुई। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह करीब साढ़े ग्यारह बजे मौके पर पहुंचे। इसके बाद दिग्विजय सिंह के साथ जीतू पटवारी, पूर्व विधायक प्रेम चंद गुड्डू, पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा सहित कांग्रेस के नेता रथ पर सवार होकर कमिश्नर कार्यालय की ओर निकल पड़े। इस दौरान दिग्विजय सिंह लगातार कांग्रेस कार्यकार्ताओं का हौसला बढ़ाते रहे। 

करीब दो घंटे बाद कांग्रेस नेताओं की रैली कमिश्नर ऑफिस पहुंची। यहां पहुंच कर दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने कमिश्नर ऑफिस के बाहर धरना दिया। धरना देने के बाद दिग्विजय सिंह के साथ कांग्रेस नेताओं ने पवन कुमार शर्मा को अपना ज्ञापन सौंपा। 

दरअसल कांग्रेस का यह प्रदर्शन इंदौर प्रशासन द्वारा कांग्रेस नेताओं के खिलाफ की गई कार्रवाई को लेकर था। कांग्रेस का आरोप है कि इंदौर प्रशासन ने एकतरफा रवैया अपनाया है। इस सिलसिले में कांग्रेस के नेताओं ने हाल ही में  पवन कुमार शर्मा से मुलाकात भी की थी, जिसमें उन्होंने कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ दर्ज किए गए मुकदमे और जिलाबदर की कार्रवाई को वापस लेने की मांग की थी। लेकिन जब कांग्रेस नेताओं की मांग नहीं मानी गई, तब खुद पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह कांग्रेस कार्यकर्ताओं के समर्थन में मैदान में उतर गए। कांग्रेस की इस व्यापक रैली को राजनीतिक दृष्टिकोण से भी देखा जा रहा है।