जबलपुर में वकीलों का हड़ताल, हाईकोर्ट और जिला कोर्ट के सभी काम ठप, आत्महत्या मामले की जांच में देरी का आरोप

बीते दिनों मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में प्रैक्टिस करने वाले वकील अनुराग साहू ने की थी आत्महत्या, इसके बाद वकीलों ने कोर्ट परिसर में जमकर की थी तोड़फोड़

Updated: Oct 11, 2022, 04:36 PM IST

जबलपुर में वकीलों का हड़ताल, हाईकोर्ट और जिला कोर्ट के सभी काम ठप, आत्महत्या मामले की जांच में देरी का आरोप

जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर में मंगलवार को हाईकोर्ट और जिला न्यायालय के सभी कानूनी काम ठप रहे। दरअसल, आनुराग साहू आत्महत्या मामले को लेकर सभी वकील एकदिवसीय हड़ताल पर थे। बार एसोसिएशन के निर्णय के बाद उन्होंने पैरवी से दूरी बना ली। जिस कारण सारा काम अटक गया।

जिला अधिवक्ता संघ, हाईकोर्ट बार एसोसिएशन और हाईकोर्ट एडवोकेट्स बार एसोसिएशन ने अधिवक्ता अनुराग साहू के आत्महत्या मामले की जांच पूरी नहीं होने के कारण यह निर्णय लिया था। हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय वर्मा के मुताबिक शुक्रवार को सभी अधिवक्ता संघ ने एस.पी को ज्ञापन देकर 48 घंटे के भीतर अधिवक्ता अनुराग साहू आत्महत्या मामले में जांच पूरी करने की मांग की थी। 

इसके बाद रविवार को भी अधिवक्ता संघ ने पुलिस अधिक्षक से मुलाकात की, इस दौरान एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि अभी इस पूरे घटनाक्रम की जांच चल रही है। एसपी ने बताया कि कुछ अधिवक्ताओं का बयान होना शेष है। जांच में लापरवाही और जानबूझकर देरी का आरोप लगाते हुए वकीलों ने हड़ताल का रास्ता अख्तियार कर लिया।

अधिवक्ता संघ ने मांग की है कि अधिवक्ता अनुराग साहू के मामले में सीबीआई या फिर न्यायिक जांच करवाई जाए। उन्होंने तर्क दिया कि जांच में देरी होने के कारण उसे प्रभावित किया जा सकता है। बता दें कि बीते दिनों हाईकोर्ट में पैरवी करने वाले वकील अनुराग साहू ने एक सुनवाई के दौरान हुई टिप्पणी से व्यथित होकर आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद वकीलों ने कोर्ट परिसर में जमकर तोड़फोड़ भी मचाया था।