BJP में टिकट बंटवारे को लेकर घमासान, ग्वालियर में तोमर-सिंधिया, इंदौर में कैलाश-सुमित्रा, जबलपुर में शिवराज-वीडी ने फंसाया पेंच

मध्य प्रदेश के बड़े शहरों में मेयर के टिकटों को लेकर बीजेपी में घमासान मचा है, ग्वालियर में सिंधिया अपने समर्थक को टिकट दिलाना चाहते हैं तो नरेंद्र सिंह तोमर का पसंद कोई और है, इसी आपसी कलह के कारण बीजेपी प्रत्याशियों का ऐलान करने में पिछड़ रही है

Updated: Jun 10, 2022, 01:43 PM IST

BJP में टिकट बंटवारे को लेकर घमासान, ग्वालियर में तोमर-सिंधिया, इंदौर में कैलाश-सुमित्रा, जबलपुर में शिवराज-वीडी ने फंसाया पेंच

इंदौर। मध्य प्रदेश के बड़े शहरों में मेयर के टिकटों को लेकर बीजेपी में घमासान मचा है। सभी कद्दावर नेता अपने-अपने चहेतों को टिकट दिलाना चाहते हैं। यही कारण है कि बीजेपी अपने प्रत्याशियों का नाम तय नहीं कर पाई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक ग्वालियर में सिंधिया-तोमर, इंदौर में कैलाश-सुमित्रा और जबलपुर में शिवराज-वीडी आमने सामने आ गए हैं।

दरअसल, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर में अपने समर्थक को उम्मीदवार बनाना चाहते हैं। पार्टी के इंटरनल सर्वे में खुशबू गुप्ता का नाम है। लेकिन नरेंद्र सिंह तोमर पूर्व मंत्री माया सिंह की उम्मीदवारी पर अड़े हुए हैं। उधर सिंधिया ने प्रदेश नेतृत्व को साफ कह दिया है कि ग्वालियर में उनके दखल के बगैर उम्मीदवार खड़ा करना नुकसानदेह होगा। यानी जिसे सिंधिया कहें उसे उम्मीदवार बनाया जाए। दो केंद्रीय मंत्रियों की इस खींचतान के कारण ग्वालियर में प्रत्याशी का चयन नहीं हो पाया है।

यह भी पढ़ें: भाजपा में पार्षद दावेदारों के लिए 10हजार रुपए एंट्री फीस, कांग्रेस बोली भाजपा दल नही कॉरपोरेट संस्था

इधर इंदौर में कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला के सामने बीजेपी भी ब्राह्मण चेहरे को आजमाना चाहती है। राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय विधायक रमेश मेंदोला के लिए लगे हुए हैं। लेकिन उनकी काट के लिए विधायक मालिनी गौड़ सक्रिय हैं। जबकि पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन नए चेहरे के पक्ष में है और उन्होंने अपना पसंद पार्टी को बता दिया है। इन दो दिग्गजों ने इंदौर में बीजेपी का पेंच फंसा दिया है।

सबसे दिलचस्प मुकाबला जबलपुर में देखने को मिल रहा है। यहां स्वयं सीएम शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा आमने-सामने हैं।
सीएम शिवराज आरएसएस के डॉ जीतेंद्र जामदार को टिकट दिलाना चाहते हैं। जबकि प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा अभिलाष पांडे की दावेदारी को मजबूत बता रहे हैं। सीएम और प्रदेश अध्यक्ष के इस पॉवर टसल में यहां किसी की उम्मीदवारी तय नहीं हो पाई है। हालांकि, राकेश सिंह और अजय विश्नोई का सपोर्ट बताकर श्रीराम शुक्ला और कमलेश अग्रवाल भी दावा जता रहे हैं।

यह भी पढ़ें: नगरीय निकाय चुनाव: कांग्रेस के किया 15 महापौर प्रत्याशियों का ऐलान, रतलाम पर मंथन जारी

तीन मंत्रियों के गढ़ वाले क्षेत्र सागर में समीकरण काफी अलग है। मंत्री भूपेंद्र सिंह प्रतिभा तिवारी की मदद कर रहे हैं। मंत्री गोपाल भार्गव ने प्रतिभा चौबे का नाम बढ़ाया है। जबकि गोविंद सिंह राजपूत किसी अन्य को टिकट दिलाना चाहते हैं। यहां तीनों मंत्री अपना मेयर चाहते हैं, जो हो पाना संभव नहीं है। ऐसे में पार्टी किसका नाम फाइनल करे इसपर मंथन किया जा रहा है।