सिवनी मॉब लिंचिंग: कांग्रेस नेताओं ने की पीड़ित परिजनों से मुलाकात, शिवराज सरकार पर बरसे नकुलनाथ

मध्य प्रदेश के सिवनी में बजरंग दल कार्यकर्ताओं द्वारा दो आदिवासी युवकों की बेरहमी से हत्या की घटना के बाद शिवराज सरकार की चौतरफा आलोचना हो रही है, कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को पीड़ित परिजनों से मुलाकात की

Updated: May 06, 2022, 01:01 AM IST

सिवनी मॉब लिंचिंग: कांग्रेस नेताओं ने की पीड़ित परिजनों से मुलाकात, शिवराज सरकार पर बरसे नकुलनाथ

सिवनी। मध्य प्रदेश के सिवनी में बजरंग दल कार्यकर्ताओं द्वारा दो आदिवासी युवकों की बेरहमी से हत्या की घटना के बाद शिवराज सरकार की चौतरफा आलोचना हो रही है। विपक्षी दल कांग्रेस ने इस मुद्दे को जोर शोर से उठाया है। कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को पीड़ित परिजनों से मुलाकात करने पहुंचा। इस दौरान छिंदवाड़ा सांसद नकुलनाथ ने कहा कि राज्य सरकार कुंभकर्ण की नींद सोई हुई है।

दरअसल, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मामले की जांच के लिए तीन विधायकों की कमेटी बनाई थी। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविदं सिंह, सांसद नकुल नाथ, पूर्व मंत्री तरुण भनोत सहित अन्य कांग्रेसी नेता पीड़ितों की खबर लेने सिवनी पहुंचे। इस दौरान सांसद नकुलनाथ ने कहा कि, 'मध्य प्रदेश में आए दिन आदिवासी भाइयों पर अत्याचार हो रहे पर भाजपा सरकार कुंभकरन की नींद सोई हुई है। जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल जाता मैं और पूरा कांग्रेस परिवार आपके हक की लड़ाई लड़ेंगे।'

कांग्रेस नेताओं के सिवनी दौरे पर निशाना साधते हुए गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ अपने बेटे को प्रोजेक्ट कर रहे हैं। उन्होंने कहा, 'नेता प्रतिपक्ष का पद गया, अध्यक्ष पद पर संकट के बादल हैं। ऐसे में कमलनाथ बेटे को प्रोजेक्ट कर रहे हैं, तो इसमें क्या बुराई है। जो भी प्रतिनिधिमंडल जाता है, वह क्या सरकार के पक्ष में रिपोर्ट देगा। वो सिर्फ इसलिए भेजते हैं कि सरकार के खिलाफ एक दिन की न्यूज बन जाए। अचंभा इस बात का है कि कांग्रेस के अध्यक्ष कहीं जाते नहीं दिखते।'

यह भी पढ़ें: MP: बजरंग दल के लोगों ने की दो आदिवासियों की पीट-पीटकर हत्या, एक गंभीर रूप से घायल

इस पूरे मामले पर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा है कि, ' मप्र शासन पूरे पक्षपात ढंग से काम कर रहा है। नियम क़ानून और संविधान की धज्जियों उड़ाई जा रही हैं। बजरंग दल के गुंडों को क्यों संरक्षण दिया जा रहा है? भाजपा का आदिवासी प्रेम केवल उनके वोटों तक सीमित है।'

वहीं राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने राज्यपाल मंगुभाई पटेल पर निशाना साधते हुए कहा कि, 'मप्र में आदिवासी महामहिम राजपाल हैं। आप के रहते आदिवासियों पर सिवनी या अन्य ज़िलों में जुल्म कैसे हो रहे हैं और यदि हो रहे हैं तो आप चुप क्यों हैं। हिम्मत कर अपने दायित्व और समाज की रक्षा कीजिए। इतिहास पुरुष बनिए।'

बता दें कि दो दिन पहले मध्य प्रदेश के सिवनी में बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने दो आदिवासियों को गौहत्या के शक में पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस मामले में 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सिवनी पुलिस स्वयं कह चुकी है कि आरोपी बजरंग दल और श्रीराम सेना जैसे संगठनों से जुड़े हैं। बावजूद सरकार इस बात को नकार रही है।