मध्य प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, राज्य प्रशासनिक सेवा के 7 अधिकारियों का तबादला

मध्य प्रदेश कार्मिक विभाग ने आदेश जारी कर 7 अधिकारियों का किया ट्रांसफ़र, कांग्रेस पहले ही कह चुकी है कि तबादले में शिवराज सरकार का नाम गिनीज बुक में शामिल करना चाहिए

Updated: Jan 22, 2021, 08:04 PM IST

मध्य प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, राज्य प्रशासनिक सेवा के 7 अधिकारियों का तबादला

भोपाल। मध्य प्रदेश में आज एक बार फिर से बड़ा प्रशासनिक फेरबदल देखने को मिला है। कार्मिक विभाग ने आज राज्य प्रशासनिक सेवा के 7 बड़े अधिकारियों का तबादला कर दिया है। शिवराज के सरकार तबादले को लेकर कांग्रेस ने कल ही निशाना साधते हुए कहा था कि सीएम शिवराज ने तबादले का एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है और इसके लिए उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज किया जाना चाहिए।

राज्य सरकार ने आज जिन अधिकारियों के तबादले किए हैं वह इस प्रकार है :- 

1. अनिल कुमार चांदिल, अपर कलेक्टर जिला भिंड से दतिया
2. नरेन्द्र सिंह राजावत, उप सचिव सामान्य प्रशासन विभाग (पुल) को अपर कलेक्टर जिला मंदसौर
3. नंदा भलावे कुशरे, अपर कलेक्टर खंडवा को मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत खण्डवा
4. प्रवीण फुलपगारे, संयुक्त कलेक्टर जिला खरगोन को अपर कलेक्टर, जिला भिण्ड
5. शंकरलाल सिंगाडे, संयुक्त कलेक्टर जिला खंडवा को अपर कलेक्टर, जिला खण्डवा
6. चन्द्रभूषण प्रसाद, अवर सचिव, ऊर्जा विभाग को संयुक्त कलेक्टर, जिला ग्वालियर
7. दीपशिखा, विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी, सामान्य प्रशासन विभाग (पुल) को डिप्टी कलेक्टर, जिला दतिया

 

यह भी पढ़ें : कोरोना काल में हुए 3 हज़ार से ज़्यादा तबादलों पर आक्रामक हुई कांग्रेस, कहा गिनीज़ बुक में दर्ज हो शिवराज सरकार का नाम

अभी भी कई तबादले पेंडिंग में 

निकट भविष्य में भी तबादलों की रफ्तार कम होने के आसार नहीं हैं। राज्य सेवा के सैकड़ों अधिकारियों को तबादला इस बीच किया गया है। लेकिन इसके बावजूद अब भी तबादलों के करीब दस हजार आवेदन पेंडिंग हैं। अकेले स्कूल शिक्षा विभाग में तीन हजार जबकि स्वास्थ्य विभाग में चार हजार तबादले पेंडिंग हैं। एक अनुमान के मुताबिक अप्रैल तक पेंडिंग तबादलों की संख्या 50 हज़ार हो जाएगी। लिहाज़ा आने वाले समय में और तबादलों के आदेश निकलेंगे, इस बात की पूरी संभावना है।