मुरैना कांड पर बरसे कमलनाथ, कहा जिन माफियाओं को हमने ख़त्म किया था, फिर बुलंद हुए उनके हौसले

मुरैना जिले के दो गांवों में सोमवार देर रात जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत हो गई, दो दर्जन से ज़्यादा लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है

Updated: Jan 12, 2021, 09:10 PM IST

मुरैना कांड पर बरसे कमलनाथ, कहा जिन माफियाओं को हमने ख़त्म किया था, फिर बुलंद हुए उनके हौसले
Photo Courtesy : The Economic Times

भोपाल। मुरैना में जहरीली शराब पीने से अब तक 12 लोगों की मौत हो चुकी है। मुरैना में हुई मौतों को लेकर कमल नाथ शिवराज सरकार जमकर बरसे हैं। कमल नाथ ने मुरैना कांड को लेकर शिवराज सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि जिन माफियाओं को उनकी सरकार ने खत्म कर दिया था, प्रदेश में बीजेपी सरकार आते ही उनके हौसले एक बार फिर बुलंद हो गए हैं। कमल नाथ ने कहा है कि शिवराज सरकार की माफियाओं पर सारी कार्रवाई दिखावटी है। बड़े माफिया अब भी निर्भीक हो कर अपने कार्यों को अंजाम दे रहे हैं। 

कमल नाथ ने ट्वीट किया है कि 'गाड़ दूँगा, टाँग दूँगा, लटका दूँगा, सब दिखावटी व गुमराह करने वाली बातें ?
भाजपा सरकार में माफ़ियाओ के हौसले बुलंद, सारी कार्यवाही दिखावटी, बड़े माफिया अभी भी निर्भीक होकर अपने कार्यों को अंजाम दे रहे है।जिन माफ़ियाओ को हमने नेस्तनाबूद किया था वो भाजपा सरकार आते ही फिर मैदान में।' 

बीमार लोगों का समुचित इलाज और पीड़ित परिवारों की हर संभव मदद करे सरकार: कमल नाथ

कमल नाथ ने मुरैना ज़हरीली शराब काण्ड में मृतक व्यक्तियों के परिवारों की हर संभव मदद करने के लिए सरकार से अपील की है। इसके साथ ही कमल नाथ ने कहा है कि बीमार लोगों के समुचित इलाज का प्रबंध भी राज्य सरकार को करना चाहिए। कमल नाथ ने ट्वीट किया है, 'शराब माफ़ियाओ का क़हर जारी, उज्जैन में 16 जान लेने के बाद अब मूरैना में शराब माफ़ियाओ ने 10 के क़रीब लोगों की जाने ली।शिवराज जी, शराब माफ़िया आख़िर कब तक यूँ ही लोगों की जान लेते रहेंगे?सरकार बीमार लोगों का समुचित इलाज करवाये और पीड़ित परिवारों की हरसंभव मदद करे। 

यह भी पढ़ें: मुरैना में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत, दो दर्जन से ज़्यादा लोगों की हालत गंभीर

वहीं इस पूरे मामले पर मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अजीत सिंह भदौरिया ने भी शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। भादौरिया ने कहा है कि राज्य सरकार ने आबकारी विभाग के किस अधिकारी पर कार्रवाई की है, वो बताना चाहिए। अजित सिंह भदौरिया ने कहा कि जहरीली शराब काण्ड की ज़िम्मेदारी क्या सिर्फ पुलिस की है? आबकारी विभाग के किस अधिकारी पर क्या कार्रवाई की गई है, ये सरकार ज़रा बताए। 

इसके साथ ही मंगलवार सुबह जौरा रोड पर मृतकों के परिजनों ने प्रशासन और सरकार के खिलाफ जमकर हंगामा किया। परिजनों ने आरोप लगाया कि प्रशासन और राजनीतिक मिली भगत के कारण ही क्षेत्र में माफियाओं का प्रभाव बढ़ रहा है। मृतकों के परिजनों ने दस लाख रुपए की आर्थिक सहायता और सरकारी नौकरी की मांग भी सरकार से की। 

ज़िला आबकारी अधिकारी और थाना प्रभारी निलंबित 
मुरैना जहरीली शराब काण्ड को लेकर मृतक के परिजनों और कांग्रेस पार्टी द्वारा शिवराज सरकार पर लगातार हमले और दबाव बनाए जाने के बाद ज़िले के आबकारी अधिकारी जावेद खान को निलंबित कर दिया गया है। मुरैना जिले के बागचीनी थाना प्रभारी को भी निलंबित कर दिया गया है। पुलिस अभी इस पूरे मामले की जांच कर रही है। लेकिन पुलिस किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचने से बच रही है। पुलिस का कहना है कि मृतकों के पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही वो किसी निष्कर्ष पर पहुंचेगी कि मृतकों की मौत का कारण जहरीली शराब ही है या नहीं?