Girraj Dandotiya: चुनाव के पहले मंत्री पूछ रहे पुलिसकर्मियों की जाति

MP Assembly By Poll: मंत्री गिर्राज दंडौतिया ने 6 थाना प्रभारियों से पूछी उनके स्टाफ की जाति, उपचुनाव में जातीयसमीकरण साधने की कवायद

Updated: Aug 18, 2020 11:22 PM IST

Girraj Dandotiya: चुनाव के पहले मंत्री पूछ रहे पुलिसकर्मियों की जाति

मुरैना। ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल होने वाले मंत्रियों का मैदान में विरोध तेज हो गया है। एक दिन पहले सार्वजनिक रूप से जन विरोध झेल चुके पूर्व विधायक और शिवराज सरकार के मंत्री गिर्राज डंडौतिया जातीय समीकरण साधने में जुट गए हैं। उन्हें उपचुनाव में उतरना है और विरोध का वातावरण देख जोड़ तोड़ के प्रयत्न जारी है। जातीय आधार पर कर्मचारियों की जमावट के लिए उन्होंने दिमनी के 6 थानों के प्रभारियों से थानों में तैनात कर्मचारियों की जाति पूछी है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कृषि राज्य मंत्री गिर्राज डंडौतिया ने दिमनी इलाके के 6 थानों माता बसैया, दिमनी और सिहोनियां के साथ सिटी कोतवाली, स्टेशन रोड और सिविल लाइन के थाना प्रभारियों से उनके थानों में तैनात सिपाही, हवलदार, एएसआई, एसआई की जानकारी मंगवाई है। मंत्री गिर्राज दंडौतिया ने थाना प्रभारियों से पूछा है कि आपके थाने में पदस्थ पुलिसकर्मी किस जाति-बिरादरी का है। मंत्री ने इस बात के बारे में भी पूछा है कि स्टॉफ थाने में कब से तैनात है। इसके बाद हर थाने का टीआई अपने पूरे स्टाफ की जानकारी दे रहे हैं।

जबकि नियमानुसार ऐसा कोई प्रावधान नहीं है कि कोई नेता किसी पुलिस थाने में कार्यरत कर्मचारियों की जानकारी मांगे। केवल अगर किसी अधिकारी या कर्मचारी से चुनाव प्रत्याशी को शिकायत होने पर उसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक, डीआईजी और आईजी से किया जाना उचित होता है, ना कि थाना प्रभारी से उनके स्टाफ में तैनात कर्मचारियों की तैनाती और जाति का विवरण मांगा जाए।

Click  BJP Minister: गिर्राज दंडोतिया ने झूठे केस में फंसाने की धमकी दी

गौरतलब है कि हाल ही में दिमनी विधानसभा क्षेत्र में गिर्राज दंडौतिया को जनता के विरोध का सामना करना पड़ा था। स्थानीय जनता ने उनके खिलाफ नारेबाजी की थी। बीजेपी नेता गिर्राज दंडौतिया को इस बात का अंदेशा है कि जनता उन्हें नकार सकती है।