मुरैना जहरीली शराब से मरनेवालों के परिजनों को मिले 50 लाख का मुआवजा, कांग्रेस की मांग

मुरैना में जहरीली शराब मामले में कांग्रेस ने गठित की जांच कमेटी, पीड़ित परिवारों से मुलाकात कर पीसीसी को रिपोर्ट सौंपेगी, अब तक 21 की मौत

Updated: Jan 13, 2021, 05:03 PM IST

मुरैना जहरीली शराब से मरनेवालों के परिजनों को मिले 50 लाख का मुआवजा, कांग्रेस की मांग
Photo Courtesy: twitter

भोपाल। मुरैना में जहरीली शराब पीने से 21 लोगों की मौत मामले में कांग्रेस ने सरकार पर जमकर निशाना साधा है। बुधवार को पीसीसी दफ्तर में प्रेसवर्ता के दौरान पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि इस मामले के लिए प्रदेश सरकार जिम्मेदार है। कांग्रेस ने पीड़ित परिवारों के लिए 50-50 लाख रुपए के मुआवजे की मांग की है। इस मामले की जांच के लिए कांग्रेस ने एक जांच दल का गठन किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कांग्रेस की जांच समिति गठित की है। यह कमेटी जहरीली शराब पीने से हुई मौत ममले की जांच करेगी।

 

कांग्रेस के जांच दल में 6 सदस्य शामिल हैं। जांच कमेटी में चार विधायक, एक किसान कांग्रेस अध्यक्ष और मुरैना शहर अध्यक्ष शामिल हैं। विधायक बैजनाथ कुशवाह, अजब सिंह कुशवाह, राकेश मावई, रविंद्र सिंह तोमर, दिनेश गुर्जर अध्यक्ष किसान कांग्रेस और दीपक शर्मा, अध्यक्ष-शहर कांग्रेस मुरैना को जांच की जिम्मेदारी दी गई है। यह कमेटी पीड़ित परिवारों से मिल कर मामले की तह तक जाएगी।

और पढ़ें: मुरैना में जहरीली शराब से 20 लोगों की मौत, कलेक्टर, एसपी को हटाने का आदेश

वहीं इस मामले में शिवराज सरकार ने भी अफसरों का एक जांच दल बना दिया है। मुरैना जहरीली शराब मामले की जांच के लिए सरकार ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन कर दिया है। डॉक्टर राजेश राजौरा, अपर सचिव गृह विभाग को कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है। एसाई मनोहर, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक,पुलिस मुख्यालय, मिथिलेश शुक्ला, उप पुलिस महानिरीक्षक, ट्रेनिंग, पुलिस मुख्यालय भोपाल को सदस्य नियुक्त किया गया है।

 

यह कमेटी घटना के हर पहलू की बारीकी से जांच कर सरकार को रिपोर्ट सौंपेगी।