सरकारी कार्यक्रम के मंच से गिरे मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर

ग्वालियर में राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड के कार्यक्रम का मंच धड़ाम से गिरा, मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर गिरने से हुए घायल, पैर में चोट लगने की वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया

Updated: Jul 01, 2021, 04:26 PM IST

सरकारी कार्यक्रम के मंच से गिरे मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर
Photo Courtesy: twitter

ग्वालियर। मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के ग्रह नक्षत्र ठीक नहीं चल रहे हैं। तभी तो कभी वो विवादों में फंस जाते हैं। कभी श्रीमंत की बुआ से पंगा ले लेते हैं, और रही सही कसर सरकारी कार्यक्रम में पूरी हो जाती है। गुरूवार को ग्वालियर में एक सरकारी कार्यक्रम का मंच टूटने से मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर गिर गए। बताया जा रहा है कि इस घटना में उन्हें अंदरूनी चोट आई है और पैर में भी फ्रेक्चर हो गया है। ऊर्जा मंत्री को अस्पताल में भर्ती किया गया है, डॉक्टरों की सलाह पर वे दवाएं ले रहे हैं।   

 

ग्वालियर में राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड के दफ्तर का उद्घाटन का मौका था। जिसके लिए करीब 10 फुट चौड़ा मंच बनाया गया है। इस मंच पर 25 लोगों के बैठने का इंतजाम किया गया था। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर   संतुलन बिगड़ने से अचानक गिर पड़े। जिसके बाद वहां पर अफरा तफरी मच गई। वहां मौजूद लोगों ने मंत्री जी को उठाने की कोशिश की। मंत्री जी के चेहरे से मास्क हटाया गया, उन्हें पानी पिलाया गया।

और पढ़ें: पेड़ पर चढ़े, हाथ जोड़े फिर भी न पिघलीं यशोधरा, दक्षता के मसले पर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर से हुई तू-तू मैं-मैं

बताया जा रहा है कि मंत्री जी को अंदरूनी चोट आयी है। कोरोना काल में हो रहे इस कार्यक्रम में जहां सोशल डिस्टेंसिंग नदारद थी, मंच पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, मंत्री भारत सिंह कुशवाह, सांसद विवेक शेजवलकर, प्रभात झा समेत 25 लोग विराजमान थे। कार्यक्रम के दौरान कुछ ऐसा हुआ कि मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का बैलेंस बिगड़ा और वे अचानक गिर पड़े। अफरातफरी मचने पर वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी, नेता और कार्यकर्ता मंत्री जी को उठाने दौड़ पड़े। उन्हें किसी कदर सम्हाला गया, जिसके बाद वे कार्यक्रम अधूरा छोड़कर ही चले गए।

और पढ़ें: झाड़ी हटाने के लिए ट्रांसफॉर्मर पर चढ़ गए ऊर्जा मंत्री, कांग्रेस ने कहा, कभी नाली गटर में उतर जाते हैं, कभी खंबे पर चढ़ जाते हैं

दरअसल ऊर्जा मंत्री अक्सर चर्चा में रहते हैं। हाल ही में ऊर्जा विभाग के प्रेजेंटेशन के दौरान उनका यशोधरा राजे सिंधिया से विवाद की खबर उड़ी थी जिसके बाद दोनों ने किसी भी तरह के बयानबाजी से इनकार किया था। वहीं कुछ दिनों पहले भोपाल में बिजली विभाद के आफिस के बाहर ट्रांसफार्मर के पास घास साफ करने लगे थेष ऊर्जा मंत्री नालियों और शौचालयों की सफाई करके भी सुर्खियों में रहे हैं। पिछले साल अप्रैल में वे बिना चप्पल के सड़कों पर घूमते भी नजर आ चुके हैं।