झाड़ी हटाने के लिए ट्रांसफॉर्मर पर चढ़ गए ऊर्जा मंत्री, कांग्रेस ने कहा, कभी नाली गटर में उतर जाते हैं, कभी खंबे पर चढ़ जाते हैं

शुक्रवार को ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ग्वालियर के मोतीझील स्थित बिजली कम्पनी के मुख्यालय पहुँच गए, मुख्यालय से बाहर निकलते ही उन्होंने जब एक ट्रांसफॉर्मर पर झाड़ी देखी, तब उसे हटाने खुद ऊर्जा मंत्री ट्रांसफॉर्मर पर चढ़ गए

Publish: Jun 18, 2021, 04:32 PM IST

झाड़ी हटाने के लिए ट्रांसफॉर्मर पर चढ़ गए ऊर्जा मंत्री, कांग्रेस ने कहा, कभी नाली गटर में उतर जाते हैं, कभी खंबे पर चढ़ जाते हैं

ग्वालियर। शिवराज सरकार में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर अमूमन सुर्ख़ियों में बने रहते हैं। इस मर्तबा उनके सुर्ख़ियों में बने रहने का कारण है खुद ऊर्जा मंत्री का ट्रांसफॉर्मर पर चढ़ जाना। सोशल मीडिया पर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का यह कारनामा वायरल हो गया है। वीडियो के वायरल होने के बाद कांग्रेस ने ऊर्जा मंत्री पर तंज कसते हुए कहा है कि खुद मंत्री को ही अपनी सरकार पर भरोसा नहीं है।  

प्रद्युम्न सिंह तोमर के ट्रांसफॉर्मर पर चढ़ते वीडियो को साझा करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि ऊर्जा मंत्री को खुद की सरकार पर ही भरोसा नहीं है। यही कारण है कि कभी नाली गटर में उतर जाते हैं, कभी खंबे पर चढ़ जाते हैं।  

 यह भी पढ़ें : ग्वालियर में ऊर्जा मंत्री के पैर लगाते ही ढह गई चैंबर की दीवार, कीचड़ में गिरते गिरते बचे प्रद्युम्न सिंह तोमर

दरअसल शुक्रवार को ऊर्जा मंत्री मोतीझील स्थित बिजली कम्पनी के मुख्यालय पहुंचे थे। उन्हें पिछले काफी दिनों से बिजली ट्रिपिंग की शिकायत मिल रही थी। ऊर्जा मंत्री बिजली कम्पनी के मुख्यालय पहुंचे तब अधिकारियों ने बताया कि ऐसा लोड बढ़ने और पशु पक्षी के कारण हो रहा है। अधिकारियों की बात सुनकर जब ऊर्जा मंत्री बाहर आए तब मुख्यालय से थोड़ी ही दूर पर एक ट्रांसफॉर्मर दिखा।  

 यह भी पढ़ें : बीजेपी की बैठक पर कांग्रेस का शिवराज पर तंज, मोदी के बाद अब संगठन ने भी शिवराज से कर लिया किनारा

ट्रांसफॉर्मर के ऊपर चिड़िया का घोंसला था। वहीं झाड़ी भी ट्रांसफॉर्मर के ऊपर लगी हुई थी। ऊर्जा मंत्री यह नज़ारा देखकर गुस्से से भर गए। प्रद्युम्न सिंह तोमर ने अधिकारियों से कहा कि जब बिजली कार्यालय के बाहर यह दृश्य है तो पूरे शहर में क्या स्थिति होगी, इसे देखकर ही समझा जा सकता है। इसके बाद प्रद्युम्न सिंह तोमर खुद सीढ़ियों के सहारे ट्रांसफॉर्मर पर चढ़ गए और झाड़ियां हटा दी।  

 यह भी पढ़ें : खनिज माफियाओं ने पुलिस चौकी के भीतर की युवक की पिटाई, बीजेपी विधायक अनिल जैन पर लगे माफियाओं को संरक्षण देने के आरोप

इससे पहले प्रद्युम्न सिंह तोमर अमृत योजना के तहत बन रहे एक चैंबर का जब निरिक्षण करने गए थे तब मंत्री जी के पैर लगाने भर से चैंबर की दीवार ढह गई थी। प्रद्युम्न सिंह तोमर खुद गिरने से बाल बाल बचे थे। वहीं जब बिना हेलमेट के प्रद्युम्न सिंह तोमर स्कूटी पर सवार होकर ग्वालियर भ्रमण पर निकले थे, तब भी विरोधियों द्वारा निशाना बनाए जाने पर वे चर्चा में आ गए थे।