फर्जी कॉल सेंटर से 10 हजार लोगों को लगाया चुना, दो गिरफ्तार

MP Crime: पुलिस ने 10 करोड़ की ठगी का किया भंडाफोड़, 6 लैपटॉप, 25 मोबाइल और 21 पेन ड्राइव बरामद

Updated: Sep 12, 2020 07:05 PM IST

फर्जी कॉल सेंटर से 10 हजार लोगों को लगाया चुना, दो गिरफ्तार
Photo Courtsey: Financial Express

भोपाल। मध्यप्रदेश में ऑनलाइन फ्रॉड और ठगी की घटनाएं आए दिन देखने को मिल रही है। इसी बीच पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। मध्यप्रदेश पुलिस ने फर्जी कॉल सेंटर के जरिए धोखाधड़ी व ठगी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है। बताया जा रहा है कि इस गिरोह ने करीब 10 हजार लोगों से 10 करोड़ रुपए ठगे हैं। मामले में पुलिस ने 2 युवतियों को एक युवक को गिरफ्तार किया है।

दरअसल, मध्यप्रदेश पुलिस को दिसंबर 2019 में इस संबंध में एक शिकायत मिली थी। शिकायतकर्ता पदमेश सिंह ने बताया था कि वेबसाइट 'स्विफ्ट फाइनेंस डॉट इन' के जरीए बड़े पैमाने पर ठगी की जा रही है। इसके बाद पुलिस ने इस गिरोह के खिलाफ अपनी तफ्तीश शुरू कर दी। जांच-पड़ताल में पता चला कि यह गिरोह साल 2018 से सक्रिय है और अनेक वेबसाइट्स के माध्यम से लोगों को कम ब्याज पर लोन देने की बात कहकर ठगी करता है।

पुलिस ने इन कथित अपराधियों को नोएडा से गिरफ्तार किया है। भोपाल जोन के पुलिस महानिरीक्षक उपेंद्र जैन ने शनिवार (12 सितंबर) को मीडिया को बताया कि, 'इस गिरोह के सरगना ऑनलाइन डिजाइनर, बीकॉम स्नातक डेविड कुमार जाटव (21) और उसकी दो सहयोगियों मनीषा भट्ट (27) और उसकी बहन नेहा भट्ट (23) को नोएडा से गिरफ्तार किया है। 

Click: Bhopal सात सालों से फरार जमीन ठग गिरफ्तार

जाटव गाजियाबाद, उत्तरप्रदेश का रहने वाला है वहीं मनीषा और नेहा उत्तराखंड की हैं। मामले में एक अन्य आरोपी कमल कश्यप फिलहाल फरार है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने इनके पास से ठगी में उपयोग किए गए छः लैपटॉप, 25 मोबाइल फोन, 21 पेन ड्राइव और आठ सक्रिय सिमकार्ड बरामद किए हैं।