MP: जेलर पर मुस्लिम कैदी की दाढ़ी जबरन कटवाने का आरोप, पीड़ित बोला- मैं किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहा 

राजगढ़ जेल में कलीम नाम के कैदी की दाढ़ी काटी गई, जेल से छूटते ही वह अपनी फर‍ियाद लेकर कलेक्‍टर के पास पहुंचा, बोला- मैं अब किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहा।

Updated: Sep 17, 2022, 05:28 PM IST

MP: जेलर पर मुस्लिम कैदी की दाढ़ी जबरन कटवाने का आरोप, पीड़ित बोला- मैं किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहा 

राजगढ़। मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां जेल में एक मुस्लिम की दाढ़ी काट दी गई। जेल से बाहर आने के बाद युवक ने इसे नबी की सुन्नत का अपमान करार देते हुए जेलर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। फरियादी युवक ने कहा कि वह अब किसी को मुंह दिखाने के काबिल नहीं रह गया है।

दरअसल, बीते 13 सितंबर को जीरापुर के वार्ड 14 निवासी कलीम खां को धारा 151 के तहत राजगढ़ जेल में बंद किया गया था। कलीम का आरोप है कि अगले दिन सुबह जेलर निरीक्षण करने आए तो दाढ़ी देखकर भड़क गए और जबरदस्ती दाढ़ी कटवा दी। कलीम ने दावा किया कि जेलर ने उसे पाकिस्तानी कहा और अभद्रता भी की। वह दाढ़ी नहीं काटने का विनती करता रहा लेकिन कोई सुनवाई नही हुई।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी के जन्मदिन पर ट्विटर पर ट्रेंड हुआ राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस, लोग बोले- चीते नहीं नौकरी लाओ

कलीम ने कलेक्टर को संबोधित शिकायत में लिखा है कि मैने पिछले 8-10 वर्षों से दाढ़ी रखी गई है। जेलर ने शरियत अनुसार रखी गई दाढ़ी को जेलर कटवा कर मेरे धर्म का व मेरा अपमान किया गया है। साथ ही मेरे नबी की सुन्नत का भी अपमान किया गया है। मैं किसी को भी अपना मुँह दिखाने के काबिल नही रहा हूं। कलीम ने आरोपी जेलर को उचित दंड देने की मांग की है।

मामले को लेकर आरोपी जेलर का कहना है क‍ि जेल में जब भी कोई नया कैदी आता है तो उसकी दाढ़ी या तो काटी जाती है या छोटी की जाती है। इनकी दाढ़ी को जबरन नहीं काटा गया है। जो जिस धर्म का है वह अपने हिसाब से दाढ़ी रख सकता है। जेल में किसी की दाढ़ी जबरदस्ती दाढ़ी नहीं काटी गई। जो कुछ भी हुआ है, वह जेल के न‍ियमों के अनुसार हुआ है। वे जानबूझकर अब इस मामले को मुद्दा बना रहे हैं।