निकाय चुनाव परिणाम: 46 निकाय में से 28 पर बीजेपी का कब्जा, कमलनाथ के गढ़ में भी सेंधमारी

छिंदवाड़ा जिले के 4 परिषदों में बीजेपी ने कब्जा जमाया है, जबकि कांग्रेस ने सिर्फ 2 सीटों पर लीड ली है, सभी निकायों में 27 सितंबर को वोटिंग हुई थी।

Updated: Sep 30, 2022, 05:28 PM IST

निकाय चुनाव परिणाम: 46 निकाय में से 28 पर बीजेपी का कब्जा, कमलनाथ के गढ़ में भी सेंधमारी

भोपाल। मध्य प्रदेश के 18 जिलों में हुए नगरीय निकाय चुनाव की तस्वीर साफ हो गई है। सत्ताधारी दल बीजेपी इस चुनाव में किसी तरह साख बचाने में कामयाब रही। सबसे बड़ा उलटफेर कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में देखने को मिला है। बीजेपी यहां सेंधमारी में कामयाब रही। कुल 6 परिषदों में 4 पर भाजपा ने कब्जा जमाया, जबकि कांग्रेस सिर्फ दो सीटों पर लीड ले सकी।

बता दें कि बीते 27 सितंबर को 18 जिले के 46 नगरीय निकायों में चुनाव हुए थे। इसमें 17 नगरपालिका और 29 नगर परिषद शामिल हैं। बीजेपी ने 28 निकायों में जीत दर्ज की है। जबकि विपक्षी दल कांग्रेस ने 14 निकायों पर कब्जा जमाया। 29 नगर परिषद में बीजेपी 18 पर आगे है। सिंगरौली की सरई और बरगवां परिषद में निर्दलीय बहुमत में हैं। लखनादौन (सिवनी) में भी निर्दलीय बहुमत में हैं। उधर डिंडौरी परिषद में टाई हुआ है। 

करीब 10 ऐसे नगरीय निकाय हैं, जो पिछली बार कांग्रेस के कब्जे में थीं, इस बार इन पर भाजपा ने जीत दर्ज की। वहीं कांग्रेस ने 9 ऐसे निकायों पर कब्जा जमाया है, जो पिछली बार भाजपा की थीं।

नगरीय निकाय चुनाव में कई दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा है। जुन्नरदेव में नगर पालिका अध्यक्ष पुष्पा साहू के पति रमेश साहू को हार का सामना करना पड़ा है। वही दमुआ में पूर्व मंडी उपाध्यक्ष और भाजपा नेता योगेश साहू को हार का सामना करना पड़ा। महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्ष उषा भमोरे को भी भाजपा से बगावत करना भारी पड़ गया। वह बुरी तरह से चुनाव हार गई।