कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायक अजय टंडन पहुंचे विधानसभा, विधायक पद की ली शपथ

दमोह विधानसभा सीट से विधायक बने कांग्रेस के अजय टंडन को विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। पूर्वमुख्यमंत्री कमलनाथ भी मौजूद रहे।

Updated: May 21, 2021, 05:24 PM IST

कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायक अजय टंडन पहुंचे विधानसभा, विधायक पद की ली शपथ
Photo courtesy: bansal news

भोपाल। मध्य प्रदेश की दमोह विधानसभा सीट पर  हुए उपचुनाव में कांग्रेस को बड़ी जीत मिली है। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए बीजेपी प्रत्याशी राहुल लोधी को कांग्रेस प्रत्याशी अजय टंडन ने हाल ही में हुए उपचुनाव में शिकस्त दी है। नवनिर्वाचित विधायक अजय टंडन आज विधानसभा की सदस्यता ली। मध्य प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम उन्हें पद और गोपनीयता की शपध दिलाई। शपथ के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भी मौजूद रहे।

उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश की 230 सदस्यों वाली विधानसभा में बीजेपी के 126 विधायक हैं, जबकि अजय टंडन की जीत के बाद मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस की सदस्य संख्या बढ़कर 95 हो गई है। इनके अलावा बसपा के दो, सपा का एक और चार निर्दलीय विधायक हैं।


गौरतलब है कि कांग्रेस की तरफ से उपचुनाव जीतने वाले अजय टंडन पहली बार विधायक बने हैं। उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी राहुल सिंह लोधी को 17 हजार 89 वोटों से हराया है। इससे पहले भी अजय टंडन दो बार कांग्रेस की तरफ से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। लेकिन पहले दो बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। हालही में हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने एक बार फिर उन पर भरोसा जताया और इस बार अजय टंडन चुनाव में विजयी हुए। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी व सत्तारूढ़ बीजेपी के उम्मीदवार राहुल सिंह लोधी को हराया और इस सीट पर पार्टी की जीत बरकरार रखी।


दरअसल, बुंदेलखंड अंचल की दमोह विधानसभा सीट पर 2018 के विधानसभा चुनाव में उस वक्त कांग्रेस प्रत्याशी रहे राहुल सिंह लोधी को जीत मिली थी। लेकिन मध्य प्रदेश में हुई राजनीतिक उठापठक के बीच राहुल सिंह लोधी ने विधायक पद से इस्तीफा देकर बीजेपी का दामन थाम लिया। जिससे दमोह में उपचुनाव की स्थिति निर्मित हो गई। उपचुनाव में राहुल सिंह लोधी बीजेपी की तरफ से चुनाव मैदान में उतरें लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा


कांग्रेस विधायक की शपथ के बाद नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने विधानसभा अध्यक्ष को धन्यवाद ज्ञापित किया, कमलनाथ ने कहा यह एक संदेश है, प्रजातंत्र में कई चुनाव होते हैं सभी के अलग मायने हैं, ये हमारे संविधान की खूबी है विश्व में ऐसा कोई और संविधान नही है,ये एक सदस्य और पार्टी की नही ये हमारे संविधान की जीत है, इसी से हम देश को सन्देश देते हैं कि हमारे संविधान की नींव अभी भी मजबूत है, इसके लिये संविधान निर्माता धन्यवाद के पात्र हैं।