कथा वाचक पंडित प्रदीप मिश्रा का एक्सीडेंट, हरिद्वार में दो बार पलटी कार, बाल-बाल बचे

रिपोर्ट्स के मुताबिक पंडित प्रदीप मिश्रा उत्तराखंड के हरिद्वार में शिव महापुराण की कथा कह रहे हैं, शुक्रवार दोपहर वे उस जगह के लिए जा रहे थे जहां पर कथा चल रही है, दोपहर एक बजे उनकी कार हादसे दुर्घटनाग्रस्त हो गई

Updated: Apr 16, 2022, 09:02 AM IST

कथा वाचक पंडित प्रदीप मिश्रा का एक्सीडेंट, हरिद्वार में दो बार पलटी कार, बाल-बाल बचे

सीहोर। मध्य प्रदेश के सीहोर वाले कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा का शुक्रवार सुबह हरिद्वार में एक्सीडेंट हो गया। मिश्रा की कार पहाड़ से टकराकर दो बार पलटी खा गई। दुर्घटना के दौरान वह नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर में दर्शन कर कथा स्थल की ओर लौट रहे थे। तभी ये हादसा हो गया। हालांकि, इस दुर्घटना में पंडित प्रदीप मिश्रा समेत कार में सवार सभी लोग सुरक्षित हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक पंडित प्रदीप मिश्रा शुक्रवार सुबह हरिद्वार से करीब 52 किमी दूर नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन के लिए निकले थे। इस दौरान उनके साथ चार गाड़ियों की काफिला थी। जब पंडित प्रदीप मिश्रा एवं उनके सहयोगी दर्शन करके लौट रहे थे, तभी नीलकंठेश्वर महादेव मंदिर से करीब पांच किमी दूर एक कार अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पहाड़ी से टकरा गई। इसी कार में पंडित प्रदीप मिश्रा बैठे थे। 

बताया जा रहा है की गाड़ी की गति तेज होने से कार दो पलटी खाई। जहां पर कार पलटी, वहां एक तरफ पहाड़ था तो दूसरी तरफ गंगाजी का किनारा। यदि कार एक पलटी और खाती तो वह गंगा नदी में समा जाती। गाड़ी पूरी तरह उल्टी हो गई थी। चारों पहिए ऊपर हो गए। कांच, खिड़की, दरवाजे सब चपटे हो गए। लेकिन गनीमत रही कि कार मे सवार पंडित प्रदीप मिश्रा और अन्य लोगों को चोट नहीं पहुंची। सभी सुरक्षित हैं। 

हादसे के बाद मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। उनके सहयोगी एवं अन्य स्थानीय लोगों ने मिलकर गाड़ी के अंदर फंसे पंडित मिश्रा को गाड़ी से बाहर निकाला। यहां से प्रदीप मिश्रा दूसरी कार में बैठकर हरिद्वार पहुंचे। उन्होंने कथा के दौरान कहा है कि भगवान शिव की कृपा से आज वह और उनके सहयोगी जीवित हैं। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस दुर्घटना के बाद उनकी कुशलता की कामना की है।