तेंदुओं की संख्या में पन्ना अव्वल, कान्हा नेशनल पार्क में मिले 400 लेपर्डस

केंद्रीय पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की अगस्त 2021 की रिपोर्ट के आधार पर अब इस बात का खुलासा किया गया है कि पन्ना में सबसे ज्यादा तेंदुए हैं, जबकि राजस्थान का सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान दूसरे और आंध्र प्रदेश का श्रीशैलम नागार्जुन सागर तीसरे नंबर पर हैं

Updated: Oct 29, 2021, 05:06 PM IST

तेंदुओं की संख्या में पन्ना अव्वल, कान्हा नेशनल पार्क में मिले 400 लेपर्डस
Photo Courtesy: twitter

भोपाल। मध्यप्रदेश को टाइगर स्टेट का दर्जा मिला हुआ है। अब पिछले दो साल से प्रदेश को लेपर्ड की संख्या में भी देश में अव्वल है। लेपर्ट स्टेट मध्यप्रदेश में तेंदुओं की संख्या में इजाफा हुआ है। पन्ना टाइगर रिजर्व में देश में सर्वाधिक तेंदुए हैं, यहां करीब ढाई साल में तेंदुओं का कुनबा 50 से ज्यादा बढ़ा है। अब पन्ना नेशनल पार्क में इनका आंकड़ा 400 के पार हो गया है। वहीं तेंदुओं की संख्या के मामले में दूसरे नंबर पर राजस्थान का सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान है, यहां 273 तेंदुए हैं।

 

तीसरे नंबर पर आंध्र प्रदेश का श्रीशैलम नागार्जुन सागर पार्क है, यहां 224, कर्नाटक के आंशी दांडेली (काली) राष्ट्रीय उद्यान में 221, उत्तराखंड के राजाजी राष्ट्रीय उद्यान में 221 तेंदुए हैं। तमिलनाडु के मुदुमलई टाइगर रिजर्व में 209, कर्नाटक के बंदीपुर टाइगर रिजर्व में 200 तेंदुए पाए गए हैं। इस साल के पहले भारतीय वन्यजीव संस्थान, देहरादून ने वर्ष 2018 में देशभर में बाघों के साथ-साथ तेंदुओं की गिनती भी की थी।

दरअसल केंद्रीय पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने अगस्त 2021 की रिपोर्ट के आधार पर अब इस बात का खुलासा किया है कि पन्ना में लैंड स्केप के आधार पर सबसे ज्यादा तेंदुए हैं।

और पढ़ें: बेस्ट मैनेजमेंट के लिए मप्र के सतपुड़ा टाइगर रिजर्व को मिला अवार्ड, अर्थ नेटवेस्ट ग्रुप अर्थ हीरोज से नवाजा गया

अगस्त 2021 में विभाग ने इनकी संख्या की रिपोर्ट जारी कर बताया था कि मध्य प्रदेश में 3421 तेंदुए मिले हैं। केंद्रीय पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने टाइगर रिजर्व (लैंडस्केप) में तेंदुओं की उपस्थिति का आंकड़ा जारी किया है।

और पढ़ें: सिवनी के पेंच टाइगर रिजर्व में नज़र आया दुर्लभ प्रजाति का काला तेंदुआ

जिसमें मध्यप्रदेश का पन्ना टाइगर रिजर्व तेंदुओं की संख्या में देश में अव्वल है। कान्हा नेशनल पार्क में एक साल से अधिक उम्र के 350 तेंदुए गिने गए थे। जिनमें से 273 तेंदुए पार्क के सीमा में जबकि 77 ऐसे तेंदुए थे जो पार्क में से होकर गुजर रहे थे।