Sagar : ट्रैक्टर जब्त हुआ तो आदिवासी को आया हार्ट अटैक

Forest Department : ग्रामीणों का आराेप रेंजर कर रहा था मानसिक रूप से परेशान, मंत्री गोपाल भार्गव की समझाइश पर जाम ख़त्म हुआ

Publish: Jul-20, 2020, 12:49 AM IST

Sagar : ट्रैक्टर जब्त हुआ तो आदिवासी को आया हार्ट अटैक

सागर। मध्यप्रदेश के सागर जिले में वन विभाग द्वारा ट्रैक्टर जब्त किए जाने के बाद आदिवासी चालीस वर्षीय मनीराम की हार्ट अटैक से मौत हो गयी। सुरखी थाना क्षेत्र के ढाना गांव में इस घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने शव सड़क पर रख कर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों का आरोप है कि मनीराम की मौत वन विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रताड़ित किए जाने की वजह से हुई है। घटना की सूचना मिलने के बाद स्थानीय विधायक व प्रदेश कैबिनेट में लोक निर्माण विभाग मंत्री गोपाल भार्गव मौके पर पहुंचे और उन्होंने ग्रामीणों को समझाने-बुझाने के बाद अधिकारियों को जांच के आदेश दिए। 

ग्रामीणों ने कहा है कि वन विभाग ने बीते दिनों मृतक मनीराम का ट्रैक्टर जब्त कर लिया था। इसके बाद उन्होंने उसके साथ दुर्व्यवहार भी क़िया। वह काफी दिनों से ट्रैक्टर छुड़ाने को लेकर प्रयासरत था लेकिन इसके लिए अधिकारियों ने उससे रिश्वत की मांग की थी। मृतक मनीराम गौंड (40 वर्ष) की पत्नी ग्राम पंचायत बेलईमाफी की सरपंच है। ग्रामीणों का कहना है कि शनिवार (18 जुलाई) को सरपंच पति रेंजर से मिलने के बाद लौटा और उसे सीने में दर्द की शिकायत के बाद परिजन यहां जिला अस्पताल लाए, जहां उसकी मौत हो गयी। परिजनों और ग्रामीणों का आराेप है कि रेंजर उसे मानसिक रूप से परेशान कर रहा था।

ग्रामीणों द्वारा शव रखकर सागर रहली मार्ग के हिलगन तिराहे पर चक्काजाम किए जाने की सूचना प्राप्त होने के बाद गोपाल भार्गव आनन-फानन में घटनास्थल पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाइश दी। बताया जा रहा है कि 15 दिन पहले भार्गव ने भी अधिकारियों को ट्रैक्टर छोड़ने की बात कही थी लेकिन उन्होंने नहीं सुना। मौके पर पहुंचे भार्गव ने ग्रामीणों के आरोपों के आधार पर कलेक्टर और एसपी को बुलाकर दोषी आरोपियों खिलाफ जांच करने के निर्देश दिए हैं। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की असली वजहों का पता चल सकेगा।