सीहोर में सेक्स रैकेट का हुआ पर्दाफाश, मुख्य आरोपी लड़ चुकी है शिवसेना के टिकट पर चुनाव

रविवार देर रात पुलिस ने सीहोर के बस स्टैंड के पास स्थित एक मकान में छापा मारा, वहां सेक्स रैकेट का धंधा चल रहा था, पुलिस ने मौके से चार लड़कियों, तीन ग्राहकों, एक ड्राईवर सहित कुल दस लोगों को गिरफ्तार किया है

Updated: Nov 08, 2021, 05:05 PM IST

सीहोर में सेक्स रैकेट का हुआ पर्दाफाश, मुख्य आरोपी लड़ चुकी है शिवसेना के टिकट पर चुनाव
Photo Courtesy : Indian Express

सीहोर। भोपाल से सटे सीहोर में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। पुलिस ने मौके से कुल दस लोगों की गिरफ्तारी की है। सेक्स रैकेट के धंधे में शिवसेना के टिकट पर चुनाव लड़ चुकी अनुपमा तिवारी का नाम सामने आया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक अनुपमा तिवारी की शह पर ही सीहोर में यह सेक्स रैकेट का धंधा चल रहा था।  

रविवार देर रात सूचना मिलने पर पुलिस ने सीहोर बस स्टैंड के पास स्थित अनुपमा तिवारी के मकान पर छापा मारा था। इस दौरान मकान में सेक्स रैकेट का धंधा जारी था। पुलिस ने मौके से चार लड़कियों और तीन ग्राहकों समेत कुल दस लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मकान से इंदुलता नामक महिला को भी गिरफ्तार किया है, जो कि इस सेक्स रैकेट को संचालित किया करती थी। इंदुलता के अलावा पुलिस ने एक ड्राईवर को भी गिरफ्तार किया है। वहीं मौके से दो कार और करीब 28 हज़ार रुपए कैश ज़ब्त किये गये हैं।  

इस पूरे सेक्स रैकेट का संचालन सीहोर के इसी मकान से होता था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लड़कियों को भोपाल के बैरागढ़ से बुलाया जाता था। कॉल गर्ल से संचालिका इंदुलता ही संपर्क साधती थी। जिसके बाद यह लड़कियां यहां आती थीं।  

हालांकि इस पूरे मामले में सबसे बड़ा नाम अनुपमा तिवारी का सामने आ रहा है। रैकेट से अर्जित की गई रकम का एक बड़ा हिस्सा अनुपमा के हिस्से जाया करता था। अनुपमा तिवारी खुद को समाजसेवी और पत्रकार बताती है।अनुपमा शिवसेना के टिकट पर चुनाव भी लड़ चुकी है। 2015 में उसने सीहोर में नगर पालिका के अध्यक्ष का चुनाव भी लड़ा था। जिसमें अनुपमा को 694 वोट मिले थे।