शिवराज जी... बोट से जाने पर खतरा है, निजी अनुभव बता रहा हूं, नरोत्तम मिश्रा ने CM चौहान को दी सलाह

बाढ़ प्रभावित इलाकों में जाते वक्त गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दी सीएम चौहान को सलाह, बोले- नाव से जाने में खतरा है, मेरा व्यक्तिगत अनुभव है, सीएम ने कहा- ध्यान रखूंगा

Updated: Aug 23, 2022, 05:10 PM IST

शिवराज जी... बोट से जाने पर खतरा है, निजी अनुभव बता रहा हूं, नरोत्तम मिश्रा ने CM चौहान को दी सलाह

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मंगलवार को राज्य के बाढ़ प्रभावित जिलों का जायजा लेने निकले हैं। सीएम चौहान हेलीकॉप्टर से हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं। इसके पहले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सीएम को सलाह देते हुए कहा था कि वे नाव से कहीं न जाएं। उन्होंने व्यक्तिगत अनुभव का हवाला देते हुए कहा कि नाव से जाना खतरनाक साबित हो सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सीएम चौहान ने मंगलवार को कैबिनेट मंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग की। इस दौरान उन्होंने सभी प्रभारी मंत्रियों से अपने जिलों में बाढ़ और जलभराव पर आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि, 'जहां तक संभव हो तो सभी मंत्री अपने जिलों का दौरा करें। मैं भी विदिशा, राजगढ़, गुना के दौरे पर निकल रहा हूं। जहां  तक सड़क से जा सकूंगा जाऊंगा, जहां हवाई मार्ग से जाना होगा वहा उससे जाऊंगा और जहां बोट से जाना होगा उससे जाऊंगा। सभी मंत्री भी ऐसा ही करें।'

इस पर ग्रह मंत्री मिश्रा ने उन्हें टोकते हुए कहा कि, 'शिवराज जी अनुरोध है आप बोट का उपयोग नहीं करें। मेरा व्यतिगत अनुभव है। नाव से जाने में खतरा है। कृपया खतरा नहीं उठाएं।' इस पर सीएम चौहान ने कहा कि, 'मैं ध्यान रखूंगा, आपका बहुत बहुत धन्यवाद।' हालंकि, इस सलाह के बाद भी सीएम चौहान नाव से मुआयना करने पहुंचे। 

मध्य प्रदेश में बीते दो दिनों में हुई मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। विदिशा और राजगढ़ जिले में हालात बेहद खराब हैं। विदिशा के लटेरी में डैम फूटने से कई गांव डूब गए। जिला प्रशासन ने एयरफोर्स से मदद मांगी। अब एयरफोर्स की टीम ग्रामीणों को रेस्क्यू करने में जुटी हुई है। सीएम चौहान भी बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा कर रहे हैं।