फरवरी तक जारी रहेगा सर्दी का सितम, मॉनसून के बदले ट्रेंड का असर सर्दी के मौसम पर भी आ रहा नजर

मौसम विभाग का दावा है कि इस साल फरवरी तक जमकर पड़ेगी ठंड, दिसंबर के आखिर और जनवरी में शीतलहर का होगा कहर, अगले 48 घंटों में भोपाल, इंदौर, रतलाम, उज्जैन में बारिश की भी चेतावनी, मावठ के बाद ठंड बढ़ने का अलर्ट

Publish: Dec 03, 2021, 10:56 AM IST

फरवरी तक जारी रहेगा सर्दी का सितम, मॉनसून के बदले ट्रेंड का असर सर्दी के मौसम पर भी आ रहा नजर
Photo Courtesy: patrika

भोपाल।मध्य प्रदेश के मौसम का मिजाज लगातार बदल रहा है, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में बने सिस्टम की वजह से ज्यादातर जिलों में ठंड और शीतलहर चल रही है। यह सर्दी अगले कुछ दिनों तक बढ़ने के आसार हैं। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है इस साल प्रदेश में ठंड का मौसम लंबा चलेगा। लोगों को अच्छी खासी ठंड का सामना करना पड़ेगा। देर तक मानसून एक्टिव रहने और उसकी देरी से विदाई के बाद अब सर्दी पड़ना शुरू हुई है। नवंबर से तेज सर्दी पड़ने का दौर शुरु हुआ है, जो कि दिसंबर के पहले सप्ताह में जोर पकड़ रहा है।

दिसंबर के अंत और जनवरी के शुरुआती सप्ताह में शीतलहर चलेगी। वहीं यह सर्दी का दौर फरवरी के आखिर तक चलने की उम्मीद है। इस दौरान पारे में उतार चढ़ाव देखने को मिलता रहेगा। मौसम विभाग का दावा है कि इस साल कहीं भी रिकॉर्ड ठंड के आसार नहीं हैं, लेकिन लोगों को अपनी सेहत का ख्याल इन सर्दियों में रखना होगा।

वहीं मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटों के लिए भोपाल, इंदौर, रतलाम, उज्जैन हल्की बारिश की चेतावनी जारी की है। भोपाल, सीहोर में धुंध छाई रहने के भी आसार है। बादलों के छंटते ही ठंड में बढ़ोत्तरी होगी। भोपाल, इंदौर, जबलपुर में धुंध और कोहरे के कारण कम विजिबिलिटी का सामना करना पड़ सकता है। गुरुवार को भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन, रीवा, शहडोल समेत प्रदेश के कई जिलों दिनभर बादल छाए रहे। कई जिलों में हल्की बरसात भी हुई। इस मावठे की बारिश से किसानों को लाभ होने की आशा है। ज्यादातर जिलों के न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। जिससे लोगों को दिन में भी ठिठुरन का अहसास हुआ।