SDM के घर घुसे चोर, उम्मीद के अनुसार रुपए हाथ नहीं लगने पर पत्र लिखकर जताई नाराजगी

देवास में चोरी की अनोखी घटना, चोर को नहीं मिले एसडीएम के घर ज्यादा रुपए तो पत्र लिखकर जताई नाराजगी, लिखा- जब पैसे नहीं थे तो लॉक ही नहीं करना था

Updated: Oct 11, 2021, 12:11 PM IST

SDM के घर घुसे चोर, उम्मीद के अनुसार रुपए हाथ नहीं लगने पर पत्र लिखकर जताई नाराजगी

देवास। मध्य प्रदेश के देवास में चोरी की एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है। यहां चोरों ने एसडीएम के घर चोरी की। हालांकि, इस दौरान उम्मीद के अनुसार रुपए हाथ नहीं लगे, जिससे चोरों का गुस्सा फूट पड़ा। चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद चोरों ने बाकायदा पत्र लिखकर नाराजगी भी जाहिर की।

मामला खातेगांव के डिप्टी कलेक्टर त्रिलोचन सिंह गौड़ के देवास स्थित आवास का है। जानकारी के मुताबिक बीते दिनों अज्ञात चोर डिप्टी कलेक्टर के सिविल लाइंस स्थित शासकीय आवास में घुसे थे। चोरों को शायद उम्मीद थी कि डिप्टी कलेक्टर के घर उन्हें लाखों रुपए और जवाहरात हाथ लगेंगे। लेकिन यहां उनके अरमानों पर पानी फिर गया। चोरों को डिप्टी कलेक्टर के घर महज 30 हजार रुपए, एक अंगूठी, चांदी के पायल और कुछ सिक्के मिले। 

यह भी पढ़ें: रतलाम में 108 अवैध दुकानों पर चला बुलडोजर, सीएम शिवराज बोले- ड्रग्स माफिया के खिलाफ हुई कार्रवाई

इसके बाद उन्होंने एसडीएम की डायरी से एक पन्ना फाड़कर चिट्ठी लिखी। चोरों ने लिखा कि "जब पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर।" गौड़ बीते शनिवार शाम जब अपने आवास पर आए तो वे हैरान रह गए। उनके घर का ताला टूटा था और अंदर सामान बिखरे पड़े थे। इसके बाद उनकी नजर टेबल पर रखे पन्ने पर गई और सारा मामला स्पष्ट हो गया।

डिप्टी कलेक्टर ने इस बात की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी और अज्ञात चोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। जानकारी के मुताबिक त्रिलोचन सिंह गौड़ को 15 दिन पहले ही खातेगांव डिप्टी कलेक्टर का प्रभार मिला है। बता दें कि गौड़ का यह आवास बेहद हाईप्रोफाइल इलाके में है। उनके पड़ोस में देवास सांसद का बंगला है वहीं उसके ठीक सामने देवास एसडीएम प्रदीप सोनी का बंगला है। पड़ोस में ही एसपी का बंगला भी स्थित है। ऐसे में इस घटना ने पुलिस को सकते में डाल दिया है।