ALT न्यूज के सह संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप

फैक्ट चेकिंग वेबसाइट Alt न्यूज से जुड़े पत्रकार मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है, उनके सहयोगी और Alt News के संस्थापक प्रतीक सिन्हा ने आरोप लगाया है कि बिना नोटिस और बिना क़ानूनी प्रक्रिया का पालन किए यह गिरफ़्तारी की गयी है

Updated: Jul 30, 2022, 08:46 AM IST

ALT न्यूज के सह संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप

नई दिल्ली। देश के मशहूर फैक्ट चेकिंग न्यूज वेबसाइट Alt न्यूज के को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक पत्रकार जुबैर की गिरफ्तारी धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में हुई है। जुबैर के खिलाफ आईपीसी की धारा 153A/295A के तहत केस दर्ज हुआ है। 

जुबैर के सहकर्मी प्रतीक सिन्हा ने बताया है कि, 'जुबैर को 2020 के एक मामले में जांच के लिए दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने आज बुलाया था। इस मामले में उन्हें पहले ही उच्च न्यायालय से गिरफ्तारी के खिलाफ संरक्षण प्राप्त था। हालांकि, आज शाम लगभग 6.45 बजे हमें बताया गया कि उन्हें किसी अन्य मामले में गिरफ्तार किया गया है। जिसके लिए उन्हें कोई नोटिस तक नहीं दिया गया था। जिन धाराओं में उन्हें गिरफ्तार किया गया है उसके लिए नोटिस देना अनिवार्य है। बार-बार अनुरोध करने के बावजूद भी हमें एफआईआर की कॉपी नहीं दी जा रही है।'

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के हवाले से मीडिया सूत्र बता रहे हैं कि एक केस में पर्याप्त सबूत होने के बाद ही मोहम्मद जुबैर को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस जुबैर को मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने जा रही है। ताकि पूछताछ के लिए उनकी कस्टडी मांगी जा सके।

जुबैर की गिरफ्तारी का देशभर के पत्रकार और विपक्षी दल के नेता निंदा कर रहे हैं। द हिन्दू अखबार की नेशनल एडिटर सुहासिनी हैदर ने सोशल मीडिया पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है कि, " प्रधानमंत्री द्वारा इमरजेंसी को काला दिन की घोषणा के दो दिन बाद...  "

 मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने लिखा है कि ''जिस मोहम्मद ज़ुबैर ने अनेक हेट स्पीच के मामलों का खुलासा किया वही आज हेट स्पीच का आरोपी बनाकर गिरफ्तार कर लिया गया.. जुबैर ने जिनको एक्सपोज़ किया वो आज भी खुला घूम रहे हैं., डरावना है यह "  

विपक्ष के अनेक नेताओं की तरफ से इस गिरफ्तारी के खिलाफ आवाज़ उठायी जा रही है। टीएमसी नेता डेरेक ओब्रायन ने इस गिरफ्तारी की निंदा की है तो कांग्रेस नेता शशि थरूर ने मोहम्मद जुबैर को तत्काल रिहा करने की मांग की है।

सीपीएम के नेता सीताराम येचुरी ने लिखा है कि "जो भी झूठ का पर्दाफाश करता है, मोदी सरकार को उससे असुरक्षा महसूस होती है"

 बहरहाल इस गिरफ्तारी से मीडिया जगत में भी तीखा सन्नाटा है। अनेक पत्रकार खुलकर इस गिरफ्तारी के खिलाफ लिख रहे हैं।