भ्रष्टाचार के आरोप पर भड़के हिमंता बिस्वा सरमा, मनीष सिसोदिया को दी मानहानि केस की धमकी

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा पर कोरोना काल में PPE किट खरीददारी में भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए हैं। असम के सीएम ने इसके जवाब में सिसोदिया पर आपराधिक मानहानि का केस दर्ज करने को कहा है।

Updated: Jun 05, 2022, 09:11 AM IST

भ्रष्टाचार के आरोप पर भड़के हिमंता बिस्वा सरमा, मनीष सिसोदिया को दी मानहानि केस की धमकी

नई दिल्ली। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने शनिवार को अपने मंत्री सत्येंद्र जैन का बचाव करते हुए असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा पर भ्रष्टाचार के संगीन आरोप लगा दिए। इसके बाद सियासत गर्म हो गई है। असम के मुख्यमंत्री व बीजेपी नेता हिमता बिस्वा सरमा ने सिसोदिया के दावों को झूठा करार देते हुए उनपर क्रिमिनल डिफेमेशन का केस करने की धमकी दी है। 

दरअसल, सिसोदिया ने शनिवार को हिमंता पर पीपीई किट में घोटाले का आरोप लगाया है। सिसोदिया ने कहा कि बीजेपी के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने अपनी पत्नी की कंपनी को सरकारी खरीद में ठेके दिए और 600 रुपए की पीपीई किट 990 रुपये में ली। उन्होंने दावा किया कि, सीएम की पत्नी की कंपनी है जेसीबी इंडस्ट्रीज, उसको पीपीई किट सप्लाई के ठेके दिए गए, जबकि उस कम्पनी का मेडिकल फील्ड से कोई लेना देना नहीं था। तब सरकार अन्य कम्पनियों से 600 रुपए में पीपीई किट खरीदती थी, लेकिन उनकी पत्नी को 990 रुपए प्रति किट की खरीद का ठेका दिया गया।'

मनीष सिसोदिया ने कहा कि इतना ही नहीं, अपने बेटे के पार्टनर की कम्पनियों जीआरडी फार्माश्युटिकल और मेरीटाइम हेल्थकेयर को भी ठेका दिया गया, इन्हें भी 600 की जगह 990 रुपए प्रति किट के हिसाब से ठेका दिया गया। पत्नी की कम्पनी ने पूरी सप्लाई नहीं की, बेटे के पार्टनर की कम्पनियों ने भी सप्लाई नहीं की, लेकिन उसके बावजूद पार्टनर की कम्पनियों को दोबारा ठेका दिया गया, और वो भी इसबार 1680 रुपए प्रति किट के हिसाब से।

मामले पर असम सीएम ने कहा कि जिस वक्त पूरा देश कोरोना की महामारी से जूझ रहा था तब असम के पास मुश्किल से कोई पीपीई किट थी। उन्होंने कहा कि मेरी पत्नी ने आगे आने का साहस दिखाया और सरकार को करीब 1500 पीपीई किट फ्री में डोनेट की। उन्होंने एक रुपया तक नहीं लिया। ये पीपीई किट्स सरकार को भेंट की गई थीं। इस पूरे प्रकरण में एक रुपए का भी लेनदेन नहीं हुआ, तो फिर भ्रष्टाचार कहां हुआ?’

एक अन्य ट्वीट में असम के सीएम ने लिखा, 'उपदेश देना बंद करें और मैं जल्द ही आपको गुवाहाटी में देखूंगा, क्योंकि आप आपराधिक मानहानि का सामना करेंगे।' 

वहीं, मनीष सिसोदिया ने एक डॉक्यूमेंट ट्वीट करते हुए लिखा कि, 'माननीय मुख्यमंत्री जी! यह रहा आपकी पत्नी की JCB इंडस्ट्रीज के नाम 990/- प्रति किट के हिसाब से 5000 किट ख़रीदने का कॉन्ट्रेक्ट बताइए क्या यह काग़ज़ झूँठा है? क्या स्वास्थ्य मंत्री रहते अपनी पत्नी की कम्पनी को बिना टेंडर खरीदी ऑर्डर देना भ्रष्टाचार नहीं है?'

इस पूरे प्रकरण में अब कांग्रेस की भी एंट्री हो गई है। असम विधानसभा में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने सीएम सरमा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए मामले की सीबीआई और ईडी द्वारा जांच की मांग की है।