भावनगर के अस्पताल में भर्ती होने के लिए तड़प रहे हैं मरीज़, कांग्रेस ने कहा, यही बीजेपी का विकास मॉडल है

भावनगर के एक शासकीय अस्पताल का ह्रदय विदारक दृश्य सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है, अस्पताल में भर्ती होने के लिए मरीज़ तड़प रहे हैं लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने मरीजों की प्रति अमानवीय रवैया अपना रखा है

Updated: Apr 08, 2021, 10:49 AM IST

भावनगर के अस्पताल में भर्ती होने के लिए तड़प रहे हैं मरीज़, कांग्रेस ने कहा, यही बीजेपी का विकास मॉडल है

अहमदाबाद। इस समय सोशल मीडिया पर गुजरात के भावनगर के एक शासकीय अस्पताल का ह्रदय विदारक दृश्य चर्चा का विषय बना हुआ है। अस्पताल में भर्ती होने के लिए मरीज़ तड़प रहे हैं। लेकिन अस्पताल प्रबंधन मरीजों की कोई सुध नहीं ले रहा है। कुछ मरीज़ बिस्तर पर लेटे हुए हैं तो कुछ फर्श पर लेट कर कराह रहे हैं, तड़प रहे हैं लेकिन अस्पताल में मौजूद कर्मचारी मरीजों पर कोई ध्यान ही नहीं दे रहे हैं। 

अस्पताल का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो पर कांग्रेस नेता प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोल रहे हैं। कांग्रेस का कहना है कि अस्पतालों की यही स्थिति वास्तविकता में गुजरात के कथित विकास मॉडल की तस्वीर है। 

गुजरात से कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल ने अस्पताल का वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर साझा करते हुए लिखा, 'यह गुजरात के भावनगर के सरकारी अस्पताल की परिस्थिति है। अस्पताल के बाहर बहुत सारे ओर मरीज़ भर्ती होने के लीए इंतज़ार में है लेकिन कोई जवाब नहीं मिल रहा है। गुजरात सरकार कहती है सब सलामत है।'

वहीं सामाजिक कार्यकर्ता संदीप गोपानी ने कहा, 'ये गुजरात के भावनगर सरकारी अस्पताल की परिस्थिति है बहूत सारे मरीज़ अस्पताल में भर्ती होने के लिए इंतज़ार में अस्पताल के बाहर तड़प रहे है,लेकिन अस्पताल प्रशासन की तरफ से कोई जवाब नहीं मिल रहा है, और गुजरात सरकार कहती है सब सलामत है। "ये गुजरात का वास्तविक विकास मॉडल है।" 

 बुधवार को गुजरात में 24 घंटे के दौरान 17,348 कोविड केसेज दर्ज हुए। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इस आंकड़े के सामने आने के बाद गुजरात देश के दस सबसे ज्यादा कोविड प्रभावित राज्यों की श्रेणी में आ गया है।