Kanataka: मैंने बीजेपी की सरकार बनवाई, मुझे मंत्री बनाओ, MLC एएच विश्वनाथ की मांग

AH Vishwanath: खुद को मंत्री बनाने की मांग करने वाले एएच विश्वनाथ ने पार्टी लाइन से हटकर मैसूर के शासक टीपू सुल्तान को बताया कर्नाटक की माटी का पुत्र

Updated: Aug-27, 2020, 03:17 PM IST

Kanataka: मैंने बीजेपी की सरकार बनवाई, मुझे मंत्री बनाओ, MLC एएच विश्वनाथ की मांग

बेंगलुरु। जेडीएस के बागी नेता और वर्तमान में कर्नाटक विधान परिषद के सदस्य एएच विश्वनाथ ने राज्य सरकार में खुद के मंत्री बनाने की वकालत की है। विश्वनाथ का कहना है कि राज्य में बीजेपी की सत्ता में वापसी कराने में उनका एक अहम योगदान है। लिहाज़ा बीजेपी सरकार द्वारा उन्हें मंत्री पद से नवाजा जाना चाहिए।

जनता दल सेक्युलर के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एएच विश्वनाथ का कहना है कि उनके विधायक, सांसद और फिर पार्टी अध्यक्ष के रूप में अनुभव को देखते हुए मंत्रिमंडल में जगह मिलनी चाहिए। पिछले वर्ष राज्य की तत्कालीन कांग्रेस जेडीएस गठबंधन को सत्ता से बेदखल करने में अहम किरदार निभाने वाले विश्वनाथ ने यह भी याद दिलाया है कि प्रदेश की पूर्वर्ती सरकार को बेदखल करने और बीजेपी को राज्य के सत्ता में वापस लाने में उनका अहम योगदान रहा है। हालांकि विश्वनाथ ने डैमेज कंट्रोल करते हुए यह भी बात जोड़ दी कि राज्य की जनता को बेहतर विकल्प देने के लिए सत्ता में परिवर्तन हुआ था न कि सिर्फ उन्हें मंत्री बनाने के लिए।

पार्टी लाइन से हटकर दिया बयान, टीपू सुल्तान की शान में पढ़े कसीदे 

खुद को मंत्री बनाए जाने की पेशकश करने के साथ ही विश्वनाथ ने ऐसा कुछ कह डाला जो बीजेपी को रास नहीं आएगा। विश्वनाथ ने पार्टी लाइन से हटकर मैसूर के शासक टीपू सुल्तान को कर्नाटका की माटी का पुत्र करार दे दिया। विश्वनाथ ने टीपू सुल्तान की शान में कसीदे पढ़ते हुए कहा कि टीपू सुल्तान का देश की आज़ादी में अहम योगदान जिससे पल्ला नहीं झाड़ा सकता। 

दरअसल बीजेपी की राजनीतिक लाइन में टीपू सुल्तान को एक खलनायक और कट्टर मुस्लिम शासक की तौर पर याद किया जाता है। प्रदेश में जब कांग्रेस की सिद्धारमैया सरकार हुआ करती थी, तब उसने 2015 में टीपू सुल्तान की जयंती पर प्रति वर्ष वार्षिक समारोह आयोजन किए जाने का निर्णय लिया था। लेकिन बीजेपी ने सत्ता में वापसी करते हुए ही टीपू सुल्तान के जयंती समारोह पूरी तरह से रोक लगा दी थी। ऐसे में विश्वनाथ का टीपू सुल्तान को लेकर दिया गया यह बयान कहीं उनके लिए मुश्किल खड़ी न कर दे।