बीजेपी सांसद ने कहा, ओवैसी ने पहले बिहार में की बीजेपी की मदद, अब यूपी और बंगाल में भी करेंगे

उत्तर प्रदेश के उन्नाव से सांसद साक्षी  महाराज ने ओवैसी के उत्तर प्रदेश में सक्रिय होने के बारे में पूछे जाने पर कहा, यह ईश्वर की कृपा है, ईश्वर उनकी मदद करें

Updated: Jan 14, 2021, 03:59 PM IST

बीजेपी सांसद ने कहा, ओवैसी ने पहले बिहार में की बीजेपी की मदद, अब यूपी और बंगाल में भी करेंगे
Photo Courtesy: Outlook

लखनऊ। बीजेपी और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के रिश्तों के बारे में जो आरोप विपक्ष लंबे अरसे से लगाता रहा है और जिसे बीजेपी और ओवैसी दोनों ही खारिज करते रहते हैं, उसे आखिरकार बीजेपी के एक नेता ने कबूल कर लिया। बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने साफ-साफ माना है कि AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी चुनावों में बीजेपी की मदद करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। 

उत्तर प्रदेश के उन्नाव से साक्षी महाराज ने कैमरे के सामने कहा है कि ओवैसी ने बिहार में बीजेपी की मदद की थी और अब उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों के चुनावों में भी मदद करेंगे। बीजेपी नेता के इस कबूलनामे के बाद ओवैसी एक बार फिर से विपक्ष के निशाने पर हैं और सियासी गर्मी बढ़ गई है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस ने ममता बनर्जी को दिया घर वापसी का ऑफ़र, TMC चाहती है महागठबंधन बनाना

दरअसल, ओवैसी ने मंगलवार से उत्तर प्रदेश अपने चुनाव अभियान की शुरुआत की। इस दौरान वह सबसे पहले अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ पहुंचे। अपने कार्यक्रम के दौरान ओवैसी के निशाने पर भी लगातार अखिलेश ही रहे। इसी बात को लेकर जब एक स्थानीय पत्रकार ने साक्षी महाराज से पूछा कि ओवैसी आजमगढ़ आए हैं तो बीजेपी सांसद ने कहा, 'यह ईश्वर की कृपा है. ईश्वर उन्हें शक्ति दें। उन्होंने बिहार में हमारी मदद की और अब वे उत्तर प्रदेश के पंचायत और विधानसभा चुनावों में और पश्चिम बंगाल के चुनावों में भी हमारी मदद करेंगे।'

साक्षी महाराज के इस बयान के बाद समाजवादी पार्टी ने भी ओवैसी पर कड़ा हमला किया है। पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा, 'हम लोग पहले से ही कहते रहे हैं कि ओवैसी भाजपा के इशारे पर ही आते जाते हैं। इनके हेलिकॉप्टर में ईधन कौन डलवाता है, यह सब लोग जानते हैं। अब भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने खुलकर ही बोल दिया कि बिहार में ओवैसी ने हमारी मदद की, बंगाल और यूपी में भी करेंगे। भाजपा के चेहरे से नकाब उतर गया है। जनता को सब साफ-साफ दिखाई देने लगा है।'

गौरतलब है कि ओवैसी की पार्टी AIMIM पर लगातार यह आरोप लगते रहे हैं कि वह बीजेपी की बी टीम है। विपक्ष का कहना है कि वह बीजेपी विरोधी वोटों में सेंध लगाकर उसे फायदा पहुंचाने का काम करते हैं। यह आरोप तब और ज्यादा स्पष्ट होने लगा था जब बिहार चुनाव में ओवैसी ने पांच सीटें जीती थी और दर्जनों सीटों पर महागठबंधन को निर्णायक नुकसान पहुंचाया था।