चीफ जस्टिस के कारण राकेश अस्थाना और वाईसी मोदी हुए सीबीआई चीफ बनने की रेस से बाहर, कांग्रेस ने किया CJI का समर्थन

सीबीआई चीफ के नाम तय करने के लिए आज मुख्य न्यायाधीश रमना, प्रधानमंत्री मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी की हुए बैठक, रमना ने सरकार को 6 महीने के नियम की दिलाई याद, जिसके बाद राकेश अस्थाना और वाईसी मोदी का नाम बाहर हो गया

Updated: May 25, 2021, 01:53 PM IST

चीफ जस्टिस के कारण राकेश अस्थाना और वाईसी मोदी हुए सीबीआई चीफ बनने की रेस से बाहर, कांग्रेस ने किया CJI का समर्थन
Photo Courtesy: India Tv

नई दिल्ली। बीएसएफ के प्रूमख राकेश अस्थाना और NIA प्रमुख वाईसी मोदी का नाम सीबीआई निदेशक बनने की रेस से बाहर हो गया है। खुद मुख्य न्यायाधीश रमना की दखल के बाद दोनों ही अधिकारियों के नाम को सीबीआई प्रमुख की रेस से बाहर किया गया है। मुख्य न्यायाधीश के फैसले का कांग्रेस ने भी समर्थन किया है। 

दरअसल आज प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में सीबीआई के अगले निदेशक की नियुक्ति के लिए बैठक हुई। करीब डेढ़ घंटे चली इस बैठक में मुख्य न्यायाधीश रमना और नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी शामिल रहे। इस बैठक में सीबीआई निदेशक के पद के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए नामों पर चर्चा हो रही थी। लेकिन चर्चा के दौरान मुख्य न्यायाधीश ने बीएसएफ के प्रमुख राकेश अस्थाना और राष्ट्रीय जांच एजेंसी के प्रमुख वाईसी मोदी के नाम पर सहमति नहीं जताई। 

यह भी पढ़ें : बाबा रामदेव की दवा कोरोनिल को मुफ़्त बांटेगी हरियाणा सरकार, गृह मंत्री अनिल विज़ ने की 1 लाख किट देने की घोषणा

मुख्य न्यायाधीश ने इसके लिए सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश का हवाला दिया, जिसके मुताबिक अगर किसी अधिकारी की सेवा सीबीआई निदेशक बनने के अगले 6 महीने में समाप्त होने वाली है, उसकी पदस्थापना सीबीआई निदेशक के पद पर नहीं होनी चाहिए। मुख्य न्यायाधीश ने बैठक के दौरान कहा कि अब तक इस नियम की अनदेखी होती रही है। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने भी मुख्य न्यायाधीश का समर्थन किया। जिसके बाद राकेश अस्थाना और वाईसी मोदी का नाम रेस से बाहर हो गया है। राकेश अस्थाना 31 अगस्त जबकि वाईसी मोदी 31 मई महीने को रिटायर हो रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : परिजनों ने कर दिया था अंतिम संस्कार, दस दिन बाद मृतक लौटा अपने घर

इसके साथ ही अधीर रंजन चौधरी ने सीबीआई निदेशक के पद के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए नामों की जानकारी न दिए जाने पर आपत्ति जताई। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि पहले उन्हें 109 नामों की सूची दी गई थी। जबकि आज शॉर्टलिस्ट की गई सूची में केवल 16 नाम थे। उन्हें शॉर्टलिस्ट की गई नई सूची के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। बहरहाल राकेश अस्थाना और वाईसी मोदी के रेस से बाहर होने के बाद महाराष्ट्र के पूर्व डीजीपी सुबोध जायसवाल, सशस्त्र सीमा बल के डीजी केआर चन्द्र और गृह मंत्रालय के विशेष सचिव वीएसके कुमोदी का नाम सबसे आगे चल रहा है।