मोदी के डर से सोनिया गांधी से नहीं मिलीं ममता, कांग्रेस तोड़ने की साजिश रच रहे प्रशांत किशोर: अधीर रंजन चौधरी

अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि अगर ममता बनर्जी सोनिया गांधी से मिल लेतीं तो प्रधानमंत्री नाराज़ हो जाते, मेघालय में हुई टूट को लेकर कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर टीएमसी में दम है तो पहले इन नेताओं को अपने चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़वाए और उसके बाद अपनी पार्टी में शामिल करे

Publish: Nov 25, 2021, 02:06 PM IST

मोदी के डर से सोनिया गांधी से नहीं मिलीं ममता, कांग्रेस तोड़ने की साजिश रच रहे प्रशांत किशोर: अधीर रंजन चौधरी

नई दिल्ली। मेघालय कांग्रेस में बड़ी सेंधमारी के बाद कांग्रेस पार्टी और तृणमूल कांग्रेस खुलकर आमने सामने आ गए हैं। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने ममता बनर्जी पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा है कि ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री मोदी के डर से सोनिया गांधी से मुलाकात नहीं की। वहीं उन्होंने कांग्रेस में टूट का जिम्मेदार प्रशांत किशोर को ठहराया। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रशांत किशोर ही कांग्रेस को तोड़ने की साजिश रच रहे हैं। 

लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने तंज कसते हुए कहा है कि अगर ममता बनर्जी ने सोनिया गांधी से मुलाकात की होती तो प्रधानमंत्री मोदी नाराज़ हो जाते। इसलिए टीएमसी प्रमुख ने कांग्रेस अध्यक्ष से मुलाकात नहीं की। कांग्रेस नेता ने कहा कि भतीजे को ईडी द्वारा तलब किए जाने के तुरंत बाद ही ममता बनर्जी की हरकतें अचानक बदल गईं। जबकि ममता बनर्जी ने खुद सोनिया गांधी को पत्र लिखकर विपक्षी एकता की वकालत की थी।

यह भी पढ़ें: मेघालय के पूर्व सीएम मुकुल संगमा समेत 12 विधायक टीएमसी में शामिल, कांग्रेस को बड़ा झटका

मेघालय के पूर्व सीएम मुकुल संगमा सहित बारह विधायकों के टीएमसी में शामिल होने को लेकर अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि प्रशांत किशोर ही कांग्रेस को तोड़ने की साजिश रच रहे हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रशांत किशोर गोवा के पूर्व सीएम लिईजिन्हो फेलेरियो(पूर्व मुख्यमंत्री, गोवा) के साथ मिलकर कांग्रेस को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।इसके साथ ही अधीर रंजन चौधरी ने टीएमसी को चुनौती देते हुए यह भी कहा कि टीएमसी पहले इन नेताओं को अपने चुनाव चिन्ह पर लड़वाए और इसके बाद उन्हें औपचारिक तौर पर पार्टी में शामिल करे। 

यह भी पढ़ें: खरीद फरोख्त करने और बीजेपी से सांठगांठ करने आई हैं ममता, ममता के दिल्ली दौरे पर अधीर रंजन का वार

अधीर रंजन चौधरी ने ममता के दिल्ली आगमन पर ही पश्चिम बंगाल की सीएम और बीजेपी की मिलीभगत का दावा किया था। कांग्रेस नेता ने कहा था कि ममता बनर्जी दिल्ली में खरीद फरोख्त करने और कांग्रेस को तोड़ने आई हैं। अधीर रंजन चौधरी द्वारा दावा किए जाने के दिन ही कीर्ति आजाद और अशोक तंवर ने ममता बनर्जी की मौजूदगी में टीएमसी का दामन थाम लिया। इसके अगले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ममता बनर्जी ने मुलाकात की। दोनों नेताओं की बीच हुई मुलाकात के ठीक बाद मेघालय के पूर्व सीएम मुकुल संगमा सहित कांग्रेस के बारह विधायकों के टीएमसी में शामिल होने की खबर आ गई।