सोशल मीडिया वॉरियर्स को जोड़ेगी कांग्रेस, राहुल गांधी की नौजवानों से अपील

Rahul Gandhi: बीजेपी की ट्रोल आर्मी का मुकाबला करने के लिए कांग्रेस को अहिंसक योद्धाओं की जरूरत

Updated: Feb 08, 2021, 09:06 PM IST

सोशल मीडिया वॉरियर्स को जोड़ेगी कांग्रेस, राहुल गांधी की नौजवानों से अपील
Photo Courtesy: News24

नई दिल्ली। कांग्रेस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर अपनी पैठ बढ़ाने के लिए एक अहम कैंपेन की शुरुआत की है। पार्टी नेता राहुल गांधी ने कहा है कि बीजेपी की ट्रॉल आर्मी से लड़ने के लिए सोशल मीडिया वॉरियर्स की ज़रूरत है। उन्होंने ट्विटर के जरिए एक वीडियो जारी करके लोगों से जुड़ने की अपील भी की है। 

कांग्रेस ने करीब पांच लाख लोगों को सोशल मीडिया टीम में शामिल करने की योजना बनाई है। राहुल गांधी ने वीडियो में कहा है कि भारत को अहिंसक योद्धाओं की जरूरत है जो सच्चाई और सद्भाव के लिए लड़ें। उन्होंने कहा कि ट्रोल आर्मी आज की तारीख में लोगों में नफरत फैला रही है। इसके लिए उन्हें पैसे भी दिए जा रहे हैं। हमें इसके खिलाफ लड़ने की जरूरत है। 

राहुल ने कहा कि कांग्रेस की सोशल मीडिया वॉरियर्स की टीम में न्याय के लिए लड़ने वालों योद्धाओं को जोड़ा जाएगा। यह नफरत और हिंसा की सेना नहीं है। यह सत्य और अहिंसा की सेना है। यह एक सेना है, जो पूरी तरह से भारत की बुनियाद से जुड़े विचारों का बचाव करेगी।'

बताया जा रहा है कि इस अभियान का मुख्य मकसद युवाओं को पार्टी से जोड़ना है। इसमें मिस्ड कॉल और वेबसाइट के जरिए युवाओं को जोड़ा जाएगा। कांग्रेस का प्लान ये है कि इसमें सोशल वॉरियर को राष्ट्रीय, राज्य और जिला स्तर पर पदाधिकारी बनाया जाएगा। खासतौर से मोबाइल एप्लीकेशन में माहिर युवाओं को इससे जोड़ा जाएगा। 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पवन कुमार बंसल, प्रवक्ता पवन खेड़ा और पार्टी के सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख रोहन गुप्ता ने आज ही इस कैंपेन की शुरुआत की है। इस दौरान बंसल ने कहा कि पांच लाख सोशल मीडिया वॉरियर बनाने का लक्ष्य है। इनके माध्यम से देश के सामने खड़े मुद्दों को भी जोरशोर से उठाया जाएगा। इसके साथ ही इन योद्धाओं के माध्यम से विचारों और सिद्धांतों की बातचीत होगी।

 

 

सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख रोहन गुप्ता ने कहा, 'देश की लोकतांत्रिक संस्थाओं को दबाया जा रहा है और सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वालों को कुचलने की कोशिश की जा रही है। ऐसे में हमारी जिम्मेदारी है कि इसका हम जवाब दें और देश को बचाएं। हम चुप नहीं बैठ सकते हैं। हम देश की आवाज को बुलंद करेंगे और इसीलिए हम यह अभियान शुरू कर रहे हैं। हर युवा को हम मंच देना चाहते हैं। इस अभियान को हम एक माह तक चलाएंगे, ताकि देशभर से लोग इससे जुड़ सकें।'

सोशल मीडिया को लेकर कांग्रेस के इस अभियान को कई मायनों में अहम माना जा रहा है। पार्टी एक ओर जहां नए युवाओं को खुद से जोड़ सकती है वहीं आने वाले भविष्य में इससे कई नए चेहरे उभर कर सामने आ सकते हैं। इस साल होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भी इसे अहम माना जा रहा है।