महाराष्ट्र में जुलाई-अगस्त में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, सीएम उद्धव ने दिए अभी से तैयार रहने के निर्देश

उद्धव ठाकरे ने जुलाई अगस्त के महीने में कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका जताई है, ठाकरे ने कहा है कि इससे पहले कि कोरोना कि तीसरी लहर आए, महाराष्ट्र को ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनना होगा

Updated: Apr 30, 2021, 07:33 PM IST

महाराष्ट्र में जुलाई-अगस्त में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर, सीएम उद्धव ने दिए अभी से तैयार रहने के निर्देश
Photo Courtesy: Deccan Herald

मुंबई। महाराष्ट्र अभी कोरोना के कहर से जद्दोजेहद कर ही रहा है कि एक नई आशंका ने राज्य की जनता को घेर लिया है। महाराष्ट्र में जारी कोरोना का कहर महज़ एक ट्रेलर भर है। अभी वायरस के तांडव की पूरी फिल्म आना बाकी है। इस बात के संकेत खुद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दी है। मुख्यमंत्री ने आशंका व्यक्त की है कि जुलाई अगस्त के महीने में महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संभागीय आयुक्त, कलेक्टरों और नगर आयुक्तों के साथ हुई बैठक में यह संभावना ज़ाहिर की है। सीएम ने यह आशंका महामारी से जुड़े वैज्ञानिकों से की हुई बातचीत के आधार पर व्यक्त की है। उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में तीसरी लहर के आने से पहले सभी तैयारयां दुरुस्त करने की ज़रूरत है। ठाकरे ने राज्य प्रशासन को बुनियादी ढांचे को पूर्ण रूप से तैयार करने के निर्देश दिए हैं। उद्धव ठाकरे ने कहा है कि वे नहीं चाहते राज्य में जारी मौजूद हालात जैसी कोई परिस्थिति दोबारा पनपे। 

उद्धव ठाकरे ने कहा कि वे आगे महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की कमी का कोई बहाना नहीं सुनना चाहते। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने भी कहा कि हमें ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनना होगा। टोपे ने कहा कि जुलाई तक महाराष्ट्र के पास सरप्लस ऑक्सीजन होनी चाहिए। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने 125 पीएसए (प्रेशर विंग अबॉर्शन) तकनीक प्लांट स्थापित करने के आदेश जारी किए हैं। इसके साथ ही महाराष्ट्र सरकार पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी खरीदने जा रही है।