होटल नहीं दे सकते हैं वैक्सिनेशन पैकेज, केंद्र ने राज्यों को दिए कार्रवाई के निर्देश

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है की होटलों में टीकाकरण पैकेज देना कोविड-19 नियमों के खिलाफ है, इसके पहले कई होटलों ने टीकाकरण टूर पैकेज ऑफर किया था

Updated: May 30, 2021, 09:27 PM IST

होटल नहीं दे सकते हैं वैक्सिनेशन पैकेज, केंद्र ने राज्यों को दिए कार्रवाई के निर्देश
Photo Courtesy: the federal

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर एक विज्ञापन बहुत तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें लिखा है कि 'यहां वैक्सीन लगवाएं, आपकी सेवा करने में हमें खुशी होगी'। यह विज्ञापन किसी अस्पताल का नहीं बल्कि हैदराबाद के मशहूर सिटी रेडिसन होटल का है, जिसमें 2,999 रुपए में वैक्सिनेशन पैकेज की बात कही गई है। इसमें होटल में ठहरने का किराया भी शामिल है। केंद्र सरकार ने अब इस मामले को संज्ञान में लेते हुए कहा है कि होटलों में टीकाकरण पैकेज देना कोविड-19 नियमों के खिलाफ है।

इस विज्ञापन में यह भी कहा गया कि एक मशहूर हॉस्पिटल के एक्सपर्ट्स वैक्सीन लगाएंगे। इतना ही नहीं जरूरत पड़ने पर आपको क्लिनिकल कंसल्टेशन भी मिलेगी। साथ ही हेल्दी ब्रेकफास्ट और डिनर भी मिलेगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अब देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर कहा है कि नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने पत्र में लिखा, 'मंत्रालय के संज्ञान में आया है कि कुछ निजी अस्पताल कुछ होटलों के साथ मिलकर कोविड टीकाकरण के लिए पैकेज दे रहे हैं। इस तरह के प्रैक्टिस कोविड टीकाकरण कार्यक्रम के लिए जारी दिशानिर्देशों के खिलाफ है।' पत्र में कहा गया है कि, 'सरकारी कोविड-19 टीकाकरण केंद्र और प्राइवेट कोविड टीकाकरण केंद्र, वर्कप्लेस, बुजुर्गों और दिव्यांगों के लिए घर के पास कोविड टीकाकरण केंद्र के अलावा राष्ट्रीय कोविड टीकाकरण कार्यक्रम के तहत और किसी स्थान पर टीकाकरण नहीं किया जा सकता। होटलों में टीकाकरण दिशानिर्देशों के खिलाफ है और इसे तत्काल रोका जाए।' 

मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया कि निर्धारित दिशानिर्देशों के अनुसार टीकाकरण अभियान चलाया जाए। सरकार ने इस पूरे घटनाक्रम पर कड़ी नाराजगी जताते हुए आदेश दिया कि किसी भी 5 स्टार होटल या अन्य किसी प्राइवेट जगह पर वैक्सीन नहीं दी जाएगी।स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने इस तरह के ऑफर्स को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना से लड़ने के लिए सही नियत चाहिए, महीने में एक बार निरर्थक बात नहीं, पीएम के मन की बात पर राहुल का निशाना

दरअसल, कोरोना वायरस के चलते घरों में बंद लोगों के बीच वैक्सीन टूरिज्म का क्रेज बढ़ रहा है। मॉस्को समेत कई जगहों पर वैक्सीन ट्रिप का आयोजन किया जा रहा है। ऐसे में भारत के मुनाफाखोर भी कोरोना काल को कमाई का जरिया बनाने में जुटे हुए हैं। दिल्ली की एक ट्रेवल एजेंसी ने तो वैक्सीन के लिए 24 दिनों का टूर पैकेज ऑफर करना शुरू कर दिया था। आखिरकार अब सरकार ने इस तरह के प्रैक्टिस पर रोक लगाने का निर्देश जारी किया है।