गरीब लोगों का अमीर देश है भारत, बेरोजगारी और भुखमरी झेल रहे हैं लोग: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भारत में अमीर और गरीब के बीच के अंतर को खत्म करने पर बल दिया है। उन्होंने देश में आर्थिक और सामाजिक समानता पर जोर दिया है।

Updated: Oct 01, 2022, 11:03 AM IST

गरीब लोगों का अमीर देश है भारत, बेरोजगारी और भुखमरी झेल रहे हैं लोग: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

पुणे। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भारत के दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि भारत गरीबों का अमीर देश है। एक समृद्ध देश होने के बावजूद यहां के लोग गरीबी, भुखमरी, बेरोजगारी, जातिवाद, अस्पृश्यता और महंगाई का सामना कर रहे हैं। यहां अमीर और गरीब लोगों के बीच की खाई और गहरी होती जा रही है, इस खाईं को पाटने की जरूरत है।

दरअसल, वे गुरुवार को नागपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संगठन भारत विकास परिषद के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, 'देश में आर्थिक और सामाजिक समानता की जरूरत है। गरीब और अमीर के बीच फासला काफी बढ़ा है।' गडकरी का बयान जब वायरल होने लगा और इस पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं आने लगीं तो उन्होंने इस पर सफाई भी दी। उन्होंने कहा, 'मुझे यह जानकर दुख हुआ है कि एक बार फिर हमारे समाज और राष्ट्र के सामने की समस्याओं के बारे में मेरे बयान को संदर्भ से बाहर कर दिया गया है।'

यह भी पढ़ें: फेस्टिव सीजन से पहले RBI ने बढ़ाया रेपो रेट, बढ़ जाएगी आपकी EMI, लोन लेना भी होगा महंगा

बता दें कि गडकरी अपनी बेबाकी के लिए जाने जाते हैं। हाल के दिनों में उन्होंने कई बार अपनी ही सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। शुक्रवार को भी जब वे पुणे में मार्सडिज बेंज की लॉन्चिंग कर रहे थे तो उन्होंने कहा कि, 'हम मध्यम वर्ग के लोग हैं, यहां तक ​​कि मैं भी आपकी कार नहीं खरीद सकता। आप उत्पादन बढ़ाएं, तभी लागत कम करना संभव है।'