भारत ने पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारी को तलब किया, नगरोटा साजिश पर कड़ा रुख़

जम्मू के नगरोटा में गुरुवार को मारे गए आतंकियों के पाकिस्तानी कनेक्शन के सबूत मिले, भारतीय विदेश मंत्रालय ने विरोध जताने के लिए पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारी को बुलाया

Updated: Nov 21, 2020, 12:03 PM IST

भारत ने पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारी को तलब किया, नगरोटा साजिश पर कड़ा रुख़
Photo Courtesy: Aaj Tak

नई दिल्ली। भारतीय विदेश मंत्रालय ने दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारी को तलब किया है। विदेश मंत्रालय ने यह कदम जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में गुरुवार को मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों के पाकिस्तानी कनेक्शन के सबूत मिलने के बाद अपनी नाराज़गी जाहिर करने के लिए उठाया है। नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए आतंकवादियों के पास से बरामद चीजों से उनके पाकिस्तानी कनेक्शन का पता चला है। खबर ये भी है कि मारे गए आतंकी पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं से लगातार संपर्क में थे। 

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों के पास से पाकिस्तान की एक कंपनी का डिजिटल मोबाइल रेडियो (डीएमआर) बरामद किया गया है। बताया जा रहा है कि बरामद मोबाइल रेडियो के मैसेज से यह भी पता चला है कि इन आतंकियों की पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं से क्या बात हो रही थी। डीएमआर पर आतंकियों को मैसेज किया गया था कि उन्हें कहां पहुंचना है। उनसे बार-बार ये भी पूछा जा रहा था कि वो जिस जगह पर हैं वहां क्या माहौल है, उन्हें कोई मुश्किल तो नहीं हो रही है। इस मामले में जांच करने वाली एजेंसी को शक है कि ये मैसेज पाकिस्तान के शकरदढ़ से भेजे गए थे।

सूत्रों के हवाले से मीडिया में आई खबरों के मुताबिक डिजिटल मोबाइल रेडियो पाकिस्तानी कंपनी माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक्स का है। डिजिटल मोबाइल रेडियो पर मैसेज से पता चलता है कि घुसपैठ करने वाले आतंकी सीमा पार अपने आकाओं के कॉन्टैक में थे। साथ ही आतंकवादियों के जूते भी पाकिस्तान कनेक्शन की गवाही देते हैं। आतंकियों ने जो जूते पहने थे वो कराची में बने हैं। उनके पास से एक वायरलेस सेट और एक जीपीएस डिवाइस भी बरामद किया गया है।