पीएम केयर्स फ़ॉर चिल्ड्रेन, कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को मुफ्त शिक्षा, 10 लाख का फंड देगी सरकार

केंद्र सरकार ने ऐलान किया है कि पीएम केयर्स फ़ॉर चिल्ड्रेन योजना के तहत उन बच्चों को सहायता राशि दी जाएगी जिन्होंने कोरोना महामारी के दौरान अपने माता-पिता को खोया है

Updated: May 30, 2021, 01:20 AM IST

पीएम केयर्स फ़ॉर चिल्ड्रेन, कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों को मुफ्त शिक्षा, 10 लाख का फंड देगी सरकार
Photo Courtesy: HT

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने देशभर में जमकर कहर बरपाया है। प्रतिदिन देश मे कोरोना से हो रहे हजारों लोगों की मौत ने हंसते-खेलते परिवारों को उजाड़ा साथ ही हजारों बच्चों के सिर से मां-बाप का साया उठ गया। इन बच्चों की देखभाल और पालन पोषण करने वाला तक नहीं बचा है। ऐसे में अब केंद्र सरकार कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों की जिम्मेदारी उठाने का ऐलान किया है।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया है कि पीएम केयर्स फ़ॉर चिल्ड्रेन योजना के तहत उन बच्चों को सहायता राशि दी जाएगी, जिन्होंने कोरोना महामारी के कारण अपने माता-पिता या अभिभावक दोनों को खो दिया है। इस योजना के तहत अनाथ हुए बच्चों की केंद्रीय विद्यालय अथवा निजी स्कूलों में मुफ्त शिक्षा की व्यवस्था की जाएगी। उनकी कॉपी, किताब सहित यूनिफॉर्म तक का खर्च सरकार वहन करेगी।

केंद्र सरकार ने ऐलान किया है कि इन बच्चों को 18 वर्ष के होने के बाद मासिक भत्ता दिया जाएगा साथ ही 23 वर्ष पूरे होने के बाद पीएम केयर्स फंड से 10 लाख रुपए दिए जाएंगे। 18 साल की अवधि तक इन्हें 5 लाख रुपए का मुफ्त हेल्थ इंश्योरेंस दिया जाएगा। उच्च शिक्षा के लिए इन बच्चों को लोन दिलाने में सरकार मदद करेगी साथ ही लोन का इंटरेस्ट भी पीएम केयर्स फंड से दिया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: UP में बीजेपी नेता बेच रहा था नकली इंजेक्शन, प्रदेश अध्यक्ष से लेकर पीएम तक का बताया गया करीबी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बच्चे भारत के भविष्य हैं। केंद्र सरकार उनकी सुरक्षा और सहायता के लिए सबकुछ करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि समाज के रूप में यह हमारा कर्तव्य है कि हम अपने बच्चों की देखभाल करें और एक उज्ज्वल भविष्य की आशा करें। केंद्र सरकार ने यह फैसला ऐसे समय मे लिया है जब लगातार यह सवाल उठ रहे थे कि पीएम केयर्स फंड के पैसे कहां गए। अब उम्मीद की जा रही है कि केंद्र की यह मदद मासूमों के जख्म पर थोड़ा मरहम लग पाएगा।