कांग्रेस ज्वाइन नहीं करेंगे प्रशांत किशोर, बताया नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति की जरूरत

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रशांत किशोर को कांग्रेस ज्वाइन करने का ऑफर दिया था लेकिन उन्होंने इनकार दिया

Updated: Apr 26, 2022, 04:47 PM IST

कांग्रेस ज्वाइन नहीं करेंगे प्रशांत किशोर, बताया नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति की जरूरत

नई दिल्ली। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की कांग्रेस में एंट्री को लेकर असमंजस खत्म हो गया। प्रशांत किशोर कांग्रेस ज्वाइन नहीं करेंगे। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस बात की जानकारी दी है।

रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट में लिखा कि, 'प्रशांत किशोर के साथ हुए बैठक और प्रेजेंटेशन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एंपावर्ड एक्शन ग्रुप 2024 तैयार किया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने उन्हें इस ग्रुप के सदस्य के तौर पर कांग्रेस ज्वाइन करने का प्रस्ताव दिया लेकिन उन्होंने मना कर दिया। हालांकि, हम पार्टी को दिए गए उनके सुझावों और प्रयासों की सराहना करते हैं।

वहीं, प्रशांत किशोर ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी को सामूहिक नेतृत्व और इच्छाशक्ति की आवश्यकता है। उन्होंने ट्वीट किया, 'मैंने एंपावर्ड एक्शन ग्रुप के हिस्से के रूप में पार्टी में शामिल होने और चुनावों की जिम्मेदारी लेने के कांग्रेस के उदार प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया है। मेरी राय में, पार्टी को सुधार के लिए मुझसे अधिक सशक्त नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति की जरूरत है।' 

बता दें कि कांग्रेस के कई दिग्गज नेता प्रशांत किशोर को पार्टी में शामिल करने के पक्ष में नहीं थे। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि सोनिया गांधी ने पीके के सुझावों पर रिपोर्ट बनाने के लिए जो कमेटी गठित की थी उसमें भी अधिकांश नेता पीके की वफादारी को लेकर आशंकित थे।

कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रशांत किशोर की महत्वकांछा ज्यादा थी और वे कांग्रेस पार्टी में कोई बड़ी पद की अपेक्षा कर रहे थे। पीके को उम्मीद थी कि उन्हें कांग्रेस पार्टी का नेशनल कम्युनिकेशंस हेड बनाया जाएगा। जबकि हाई कमान ने उन्हें स्पष्ट कहा कि एंपावर्ड एक्शन कमेटी के मेंबर बनकर वे लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की मदद करें। हालांकि, कांग्रेस में शामिल नहीं होने का एक कारण IPAC का तेलंगाना राष्ट्र समिति के साथ गठजोड़ को माना जा रहा है।