राहुल की विदेश यात्रा पर ओछी राजनीति कर रही है बीजेपी, केसी वेणुगोपाल का पलटवार

राहुल गांधी इस समय विदेश यात्रा पर हैं, वेणुगोपाल ने बताया है कि राहुल अपनी नानी से मिलने गए हैं

Updated: Dec 28, 2020, 07:31 PM IST

राहुल की विदेश यात्रा पर ओछी राजनीति कर रही है बीजेपी, केसी वेणुगोपाल का पलटवार
Photo Courtesy: DailyO

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के अचानक विदेश यात्रा पर जाने के बाद बीजेपी लगातार कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी पर निशाना साध रही है। कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने राहुल गांधी पर बीजेपी के इन हमलों को उसकी ओछी राजनीति बताया है। वेणुगोपाल ने कहा कि राहुल गांधी अपनी नानी को देखने गए हैं, जिसमें कुछ भी गलत नहीं है।  

कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि राहुल गांधी अपनी नानी से मिलने गए हैं। क्या यह गलत है ? हर किसी को निजी यात्रा पर जाने का अधिकार है। बीजेपी राहुल की निजी यात्रा पर सवाल खड़ा करके अपनी निम्मस्तरीय राजनीति का परिचय दे रही है। वेणुगोपाल ने कहा कि बीजेपी राहुल गांधी पर हमला सिर्फ इसलिए कर रही है क्योंकि वो किसी भी हाल में उन्हें निशाना बनाना चाहती है।

दरअसल रविवार शाम को अचानक यह खबर आई कि राहुल गांधी एक निजी यात्रा पर विदेश गए हैं। कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने जानकारी दी थी कि राहुल गांधी संक्षिप्त व्यक्तिगत यात्रा के लिए विदेश रवाना हुए हैं और वह कुछ दिनों तक बाहर रहेंगे।

 

 

पहले तो यह जानकारी सामने नहीं आई कि राहुल कहां गए हैं? लेकिन बाद में जानकारी मिली कि वे अपनी नानी से मिलने इटली गए हैं। राहुल गांधी की नानी काफी बुजुर्ग हैं, जिनसे मिलने के लिए वे समय-समय पर जाते रहते हैं। लेकिन हर बार की तरह बीजेपी ने इस बार भी राहुल की इटली की यात्रा को लेकर निशाना साधना शुरू कर दिया। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तो यहां तक कह दिया कि राहुल गांधी नौ-दो-ग्यारह हो गए हैं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा था, "कांग्रेस इधर अपना 136 वां स्थापना दिवस मना रही है और राहुल जी ‘9 2 11’ हो गये!!"

 

 

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी राहुल गांधी के विदेश जाने पर टिप्पणी करते हुए लिखा, 'भारत में राहुल गांधी की छुट्टी खत्म हो गई है, आज वह इटली वापस चले गए।'

 

राहुल गांधी की निजी यात्रा पर इस तरह की टिप्पणी करने वाले बीजेपी के नेताओं और मंत्रियों की वजह से ही कांग्रेस को सामने आकर अपनी तरफ से जवाब देना पड़ा। ये बात वाकई हैरान करने वाली है कि बीजेपी के नेताओं, मंत्रियों को राहुल गांधी की निजी यात्राओं में इतनी ज़्यादा दिलचस्पी क्यों है? अगर वे अपनी बुजुर्ग नानी से मिलने जाते हैं, तो भला इसमें किसी को क्या एतराज़ हो सकता है?