Digvijaya Singh: राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथग्रहण

Rajya Sabha Oath: बुधवार को नए चुने गए 61 में से 45 सदस्यों ने शपथ लिया, कोरोना की वजह से कई सदस्य शपथग्रहण से रहे दूर

Publish: Jul 22, 2020 07:29 PM IST

Digvijaya Singh:  राज्यसभा सदस्य के रूप में शपथग्रहण

नई दिल्ली। राज्यसभा में आज 61 सांसदों का शपथग्रहण कार्यक्रम आयोजित किया गया, हालाँकि शपथ के लिए केवल 45 सदस्य ही पहुँचे। कोरोना संक्रमण के काल में डीएमके और टीएससी के अलावा कुछ अन्य पार्टियों के नेता समारोह में हिस्सा नहीं ले सके। इस बार बिना सत्र के सदन में चुने गए उम्मीदवारों को शपथ दिलाई गई। आज का शपथग्रहण कार्यक्रम पहली बार अंतर सत्र के दौरान हुआ। आमतौर पर शपथ ग्रहण सत्र चालू होने पर सदन के अंदर होता है या सत्र चालू नहीं होने पर राज्य सभा के सभापति के कक्ष में होता है। वैसे यह कार्यक्रम अप्रैल महीने में होना था। लेकिन पूरे देश में मार्च से लगे लॉकडाउन के कारण राज्य सभा चुनाव जून के महीने में हुआ और जुलाई में शपथ का कार्यक्रम पूरा हो सका।  

मध्य प्रदेश से दूसरी बार निर्वाचित, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भी राज्यसभा सदस्य के रूप में दूसरी बार शपथ ली। अप्रैल 2020 में राज्यसभा सदस्य के रूप में उनका पहला कार्यकाल समाप्त होने के बाद कांग्रेस ने उन्हें दोबारा उम्मीदवार बनाया था। इसके पहले वे 1984 और 1992 में लोकसभा चुनाव जीतकर वे संसद में जा चुके हैं। दिग्विजय सिंह 1993 और 1998 में दो बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं।

इसके अलावा, मध्य प्रदेश से BJP सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी ने भी शपथ लिया। इस दौरान शरद पवार, मल्लिकार्जुन खडगे, राजीव साटन, केसी वेणुगोपाल, शक्तिसिंह गोहिल, दीपेंदर हुड्डा, नरहरि अमीन, भुवनेश्वर कलीता, राजेंद्र गहलोत, रामदास अठावले ने भी शपथ लिया।

 नए सदस्यों के बाद राज्यसभा में बीजेपी के सदस्यों की संख्या 75 से बढ़कर 86 हो गई है। बुधवार को हुए शपथग्रहण में बीजेपी से 18,, कांग्रेस से 10, बीजेडी से 4, वाइएसआरसीपी से 4 सदस्यों ने शपथ लिया। TMC और DMK जैसी पार्टियों के कोई सदस्य शपथग्रहण में नहीं आए  

राज्य सभा चुनाव पहले 26 मार्च को होनेवाले थे लेकिन पूरे देश में लॉकडाउन की वजह से चुनाव आयोग को इसे टालना पडा। फ़रवरी में चुनाव आयोग ने 17 राज्यों में 55 सीटों के लिए चुनाव की घोषणा की थी  जिसमें से 37 उम्मीदवार निर्विरोध जीत गए थे| 18 सीटों के लिए जून में चुनाव कराए गए। इलेक्शन कमीशन ने जून में हुए चुनाव में 6 अन्य सीटों पर भी साथ ही चुनाव करा लिए। ग़ौरतलब है कि देश के 8 राज्यों की 19 राज्यसभा सीटों पर 19 जून को हुए चुनाव हुए थे। इसके पहले छतीसगढ़ सहित अन्य राज्यों में निर्विरोध निर्वाचन हुआ था।